आंखों की सुरक्षा के लिए

आंखों की सुरक्षा के लिए

सुबह दांत साफ करके, मुँह में पानी भरकर मुँह फुला लें। इसके बाद आखॉं पर ठ्ण्डे जल के छीटे मारें। प्रातिदिन इस प्रकार दिन तीन बार प्रात: दोपहर तथा सांयकाल ठ्ण्डे जल से मुख भरकर,… View Post
दन्तशूल (toothache) के घरेलू उपचार

दन्तशूल (toothache) के घरेलू उपचार

दांत,मसूढों और जबडों में होने वाली पीडा को दंतशूल से परिभाषित किया जाता है। हममें से कई लोगों को ऐसी पीडा अकस्मात हो जाया करती है। दांत में कभी सामान्य तो कभी असहनीय दर्द उठता… View Post
शतावर या एस्पेरेगस : बुढापे में शक्ति, त्रिदोष नाशक

शतावर या एस्पेरेगस : बुढापे में शक्ति, त्रिदोष नाशक

यह एक लता होती है जिसमे सुई जैसे पत्ते होते है . फल पक जाने पर सुन्दर लाल रंग के हो जाते है . पर इसका मुख्य अंग है इसकी जड़ जिसमे औषधीय तत्व होता… View Post
वट वृक्ष या बरगद के औषधीय प्रयोग

वट वृक्ष या बरगद के औषधीय प्रयोग

वट वृक्ष हमारे धर्म में बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है . यह पर्यावरण की दृष्टी से भी महत्वपूर्ण है . इसकी जड़ें मिटटी को पकड़ के रखती है और पत्तियाँ हवा को शुद्ध करती है… View Post
दांतों की आयुर्वेदिक देखभाल

दांतों की आयुर्वेदिक देखभाल

जबसे भारत में टूथ पेस्ट और ब्रश आया दांतों की समस्याएँ भी बहुत बढ़ गयी . आज 90 % लोगों को किसी ना किसी प्रकार की दांतों की समस्या है ; फिर भी वे नहीं… View Post
पीपल से उपचार

पीपल से उपचार

– यह 24 घंटे ऑक्सीजन देता है . – इसके पत्तों से जो दूध निकलता है उसे आँख में लगाने से आँख का दर्द ठीक हो जाता है . – पीपल की ताज़ी डंडी दातून… View Post