Home » पेट की गैस » पेट की गैस से परेशान हो चुके तो इस उपाय से पाएं छुटकारा

पेट की गैस से परेशान हो चुके तो इस उपाय से पाएं छुटकारा

आज के वर्तमान समय में गैस और कब्ज की समस्या से पीड़ित लोगों की संख्या लाखों-करोड़ों में है । क्योंकि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी और गलत खानपान की वजह से खाना ठीक ढंग से नहीं पच पाता है। इसके साथ ही लोग जंक फूड और फास्ट फूड का सेवन ज्यादा करते हैं जिससे गैस और कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है।

आज All Ayurvedic के माध्यम से इस आर्टिकल में गैस और कब्ज को दूर करने का बहुत ही आसान और जबरदस्त तरीका बताया जा रहा हैं। इसके लिए आपको आटे में बस एक चीज मिलानी है और आपको गैस और कब्ज की समस्या जिंदगी भर नहीं होगी।

पेट में गैस की समस्या एक आम समस्या है। यह समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है। गैस मसालेदार या तैलीय खाना या ज्यादा खाना खाने की वजह से हो सकता है। गैस की समस्या कई बार बहुत कष्टदायक होता है।

पेट में गैस बनने के कारण :

पेट में गैस हवा निगलने के कारण भी हो सकता है। खाने, पीने या बोलते समय हवा पेट में चली जाती है। यह अतिरिक्त निगला हुआ हवा डकार से निकल जाती है।

लेकिन जो हवा छोटी आंत में चली जाती है, वह बड़ी आंत होते हुए मलाशय के माध्यम से बाहर निकलती है।

खाना खाते समय बात करने, तेजी से पानी पीने, हार्ड कैंडी चूसने, तंबाकू उत्पादों के उपयोग और कुछ पेय पदार्थ के सेवन से पेट में अतिरिक्त हवा चली जाती है। आम तौर पर पेट में गैस कई कारणों की वजह से हो सकता है।

पेट में गैस्ट्रिक होने के कारण मसालेदार भोजन का सेवन, शराब का अत्यधिक सेवन, चिंता और तनाव, आंतों की खराबी, पाचन तंत्र में खराबी।

भोजन को अच्छी तरह नहीं चबाने से, अधिक खाना खाने से, तंबाकू चबाने से, रात में जागना, कब्ज, बैक्टीरियल संक्रमण आदि।

पेट में गैस के लक्षण :

पेट फूलना, डकार, गैस निकलना, सांसों की बदबू, भूख की कमी, पेट में दर्द, पेट में सूजन और जकड़न, पेट में ऐंठन, छाती में दर्द या जलन, सिर में दर्द, कब्ज, चक्कर आदि।

पेट की गैस के लिए सबसे आसान घरेलु उपाय :

सोंठ : सोंठ का चूर्ण 3 ग्राम और एरण्ड का तेल 8 ग्राम सेवन करने से कब्ज के कारण होने वाला आध्यमान (अफारा) ठीक हो जाता है। सोंठ का चूर्ण लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग से लगभग 1 ग्राम भाग में कालानमक मिलाकर सुबह और शाम लेने से लाभ होता है।

अदरक : अदरक 3 ग्राम, 10 ग्राम पिसे हुए गुड़ के साथ सेवन करने से आध्यमान (अफारा, गैस) समाप्त होता है।

लहसुन : लहसुन का पिसा हुआ मिश्रण लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग को घी के साथ सेवन करने से पेट में बनी गैस बाहर निकल जाती है।

सौंफ : सौंफ 25 ग्राम को 500 मिलीलीटर पानी में उबालें, जब 100 मिलीलीटर पानी बच जाये तब सेंधानमक व काला नमक 2-2 ग्राम मिलाकर रख लें, फिर इस काढ़े को छानकर पीने से आध्यमान (अफारा, गैस) नष्ट हो जाता है। सौंफ को कूटकर चूर्ण बनाकर रख लें। 5 ग्राम चूर्ण हल्के गरम पानी के साथ सेवन करने से जल्दी पेट का फूलना (अफारा) नष्ट होता है। सौंफ का काढ़ा बनाकर बस्ति (एक क्रिया जिसमें गुदा मार्ग से पानी डालते हैं) देने से गैस में लाभ होता है।

जायफल : जायफल का चूर्ण, सोंठ का चूर्ण और जीरे को पीसकर बारीक पाउडर बना लें। इस बने पाउडर को भोजन करने से पहले पानी के साथ लेने से आध्यमान (अफारा, गैस) को पैदा होने नहीं देता है।

बैंगन : बैंगन को अंगारों पर सेंककर उसमें सज्जीखार मिलाकर पेट पर बांधने से, पेट में भार हो गया हो तो वह दूर होता है। बैंगन की सब्जी में ताजे लहसुन और हींग का छौंक लगाकर खाने से आध्यमान (अफारा, गैस) को होने से रोकता है।

पीपल : पीपल का चूर्ण 3 ग्राम, सेंधानमक 1 ग्राम को मिलाकर 150 मिलीलीटर छाछ (मट्ठे या तक्र) के साथ पीने से पेट की वायु (गैस) निकल जाती है जिससे आध्यमान (अफारा, गैस) समाप्त हो जाता है। 3 पीपल को पीसकर इतने ही काले नमक में मिलाकर गर्म पानी से सुबह-शाम खाने के आधे घण्टे बाद फंकी लेने से पेट की गैस बाहर निकल जायेगी।

इलायची : इलायची, आंवले का रस या चूर्ण में भुनी हुई हींग लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग और थोड़ा सा नींबू का रस एक साथ मिलाकर सेवन करें। इससे गैस, दर्द और अफारा मिट जाता है।

लौंग : 3 ग्राम लौंग को 200 ग्राम चीनी में उबाल लें। फिर छानकर इस पानी को पीने से अफारा दूर होता है। लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग लौंग को पीसकर गर्म पानी से छान लें। इसे सुबह-शाम रोजाना पीने से अफारा में लाभ होता है।

नीबू : नीबू के रस में 1 चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर सुबह के वक्त खाली पेट पीने से गैस की समस्या से निजात मिलती है। इसे गर्म पानी के साथ भी पि‍या जा सकता है।

काली मिर्च : काली मिर्च का सेवन करने पर पेट में हाजमे की समस्या दूर हो जाती है, जिससे गैस नहीं होती। इस समस्या को दूर करने के लिए दूध में काली मिर्च मिलाकर ले सकते हैं।

हींग : एक गिलास गर्म पानी में हींग मिलाकर पीने से गैस में लाभ होता है। यह प्रयोग दिन में 3 बार करने से गैस की गंभीर अवस्था में भी लाभ होता है। इसके अलावा सिर्फ गर्म पानी पीने से भी पाचन की समस्या दूर होगी।

छाछ और धनिया : पेट में जलन होने पर धनिया पत्ती को कच्चा खाने से लाभ होता है। इसके अलावा छाछ में भुने हुए धनिये के पत्ते डालकर पीने से भी गैस की समस्या में लाभ होता है।

छाछ और काला नमक : छाछ में काला नमक और अजवाइन मिलाकर पीने से भी गैस की समस्या में काफी लाभ मिलता है। गैस से तुरंत निजात पाने के लिए यह काफी असरदार उपाय है।

दालचीनी : दालचीनी भी गैस की समस्या से निजात दिलाने में सहायक है। इसके लिए दालचीनी को पानी मे उबालकर, ठंडा कर लें और सुबह खाली पेट पिएं। इसमें शहद मिलाकर पिया जा सकता है।

लहसुन : लहसुन भी गैस की समस्या से निजात दिलाता है। लहसुन को जीरा, खड़ा धनिया के साथ उबालकर इसका काढ़ा पीने से काफी फादा मिलता है। इसे दिन में 2 बार पीना बेहतर होगा।

इलायची और अदरक : दिनभर में दो से तीन बार इलायची का सेवन पाचन क्रिया में सहायक होता है और गैस की समस्या नहीं होने देता। इसके अलावा रोज एक अदरक का टुकड़ा चबाने से भी लाभ होता है।

पुदीना : पुदीने की पत्तियों को उबाल कर पीने से गैस से निजात मिलती है। इसके अलावा बाजार में उपलब्ध पुदीने को पानी में मिलाकर भी पिया जा सकता है।

नारियल पानी : रोजाना नारियल पानी सेवन करना गैस का फायदेमंद उपचार है। इसके अलावा सेब का सिरका भी गर्म पानी में मिलाकर पीने से लाभ होता है। आलू के रस का खाली पेट सेवन भी बेहद फायदेमंद होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *