fbpx
Home » सौंदर्यता » झाइयों के लिए फेस पैक | Face Pack

झाइयों के लिए फेस पैक | Face Pack

आजकल महिलाएं अपनी त्वचा सम्बन्धी समस्याओं को दूर करने के लिए न जाने क्या क्या तरिके आजमाती है। कभी कॉस्मेटिक क्रीम, पार्लर, परन्तु यें सब क्यूँ? केवल अपने आपको खुबसूरत दिखाने के लिए अपने आपको सुन्दर बनाने के लिए क्या इन सब तरीको को अपनाना जरूरी है?

बिलकुल नहीं, जब हमारी प्रकृति में ही अनेक प्रकार की वनस्पती व जड़ी-बूटियां उपलब्ध है जिनके इस्तेमाल से हम अपने रूप-सौन्दर्य को निखार सकते है। जब हमारे पास खुबसूरत दिखने के प्राक्रतिक तरीके है तो हम निरंतर कृत्रिम खूबसूरती की ओर क्यूँ आकर्षिक होते है, क्यूँ हम कृत्रिम खूबसूरती पाने के लिए अपना समय और पैसा नष्ट करते है?

जबकि हम इस बात से भी अनजान नहीं है कि कृत्रिम खुबसूरती ज्यादा दिनों तक नहीं रहती है, वह जल्दी ही हमारा साथ छोड़ देती है। तथा प्राकृतिक सुन्दरता हमेशा हमें जवां बनाए रखती है।

खूबूसूरत त्वचा पाने की चाहत हर महिला की होती है। लेकिन आजकल भागदौड़ भरी लाइफ, प्रदूषण, खान-पान में लापरवाही और तनाव के चलते महिलाएं अपनी त्‍वचा की अच्‍छे से देखभाल नहीं कर पाती हैं। इससे त्वचा संबंधी कई समस्याएं जैसे त्‍वचा का बहुत ज्‍यादा ऑयली या ड्राई होना, कील-मुंहासे, दाग-धब्‍बे, ब्‍लैक हेड्स होने लगती हैं।

इन्हीं में से एक और सबसे गंभीर समस्‍या चेहरे पर झाइयां भी हैं। हालांकि ये समस्‍या हानिकारक नहीं हैं, लेकिन इससे त्‍वचा पर बड़े या छोटे काले धब्‍बे दिखाई देने लगते हैं जिससे महिलाओं की खूबसूरती कम होने लगती हैं। और झाइयों से परेशान हर महिला के मन में यही सवाल आता है कि इससे कैसे दूर किया जाएं?

इससे बचने के लिए कुछ महिलाए इंटरनेट पर उपायों की खोज करती हैं तो कुछ इसे छुपाने के लिए मेकअप का सहारा लेती हैं। लेकिन मेकअप से इस छुपाना झाइयों का परमानेंट इलाज नहीं है।

हम आपको All Ayurvedic के माध्यम से कुछ ऐसे प्राकृतिक तरीके बताने जा रहे है जिनसे न केवल आपकी त्वचा खुबसूरत बढ़ेगी बल्कि समय से पहले होने वाली त्वचा सम्बन्धी परेशानी जैसे झाइयाँ या पिगमेंटेशन से भी निजात मिलेगी।

चेहरे पर काले रंग के छोटे-छोटे धब्बे यानि पिग्मेंटेशन स्पॉट देखने में बहुत भद्दे लगते हैं। आपने देखा होगा कि हर किसी को अलग-अलग तरह पिग्मेंटेशन स्पॉट्स होते हैं लेकिन लड़कियां हर स्पॉट्स के लिए एक ही इलाज कर लेती हैं, जोकि गलत है।

चेहरे पर किस तरह के पिग्मेंटेशन हुए हैं ये जानने के बाद ही उसका इलाज करना सही है। इससे आपकी पिग्मेंटेशन की समस्या जल्दी ठीक होगी और बार-बार इसका सामना भी नहीं करना पड़ेगा।

क्‍यों होती है झाइयां या पिग्मेंटेशन की समस्या? | Pigmentation

पिग्मेंटेशन त्‍वचा की एक सामान्‍य समस्‍या है। इस समस्‍या में मेलानिन का स्‍तर बढ़ने के कारण त्‍वचा का कुछ हिस्‍सा सामान्‍य से गहरा रंग का हो जाता है। इसके अलावा कई बार त्‍वचा पर धब्‍बे भी पड़ जाते हैं। आमतौर पर यह समस्‍या कोई हान‍ि नहीं पहुंचाती लेकिन यह स्पॉट देखने में बहुत भद्दे लगते हैं।

पिगमेंटेशन या झाइयों के लिए प्राकृतिक फेस पैक | Pigmentation’s Face Pack

संतरे का जूस और दही का फेस पैक : संतरा विटामिन सी से भरपूर होता है जो कि त्वचा की झाइयां मिटाने में असरदार होता है। इसमें मिलने वाला कोलेजन त्वचा की एजिंग प्रक्रिया को धीमा करता है और आपकी त्वचा में कसाव लाता है। दही प्राकृतिक ब्लीच का काम करता है और त्वचा को नमी देकर मुलायम और सौम्य बनाता है। एक चम्मच दही और एक चम्मच संतरे का जूस मिलाएं और त्वचा पर लगाकर इसे 30 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर पानी से धो लें।

आलू और नींबू के रस का फेस पैक : आलू न सिर्फ मुंह में पानी लाने वाले स्नैक्स बनाने के काम आता है बल्कि त्वचा पर भी कमाल का असर दिखाता है! आलू विटामिन, मिनरल्स, प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होता है। आलू का जूस त्वचा की एजिंग, झाइयां और सनबर्न ठीक करने में भी सहायक होता है। यह त्वचा को मुलायम बनाता है और इसे ठंडक देता है।

एक आलू को छीलकर इसे ग्राइंडर में पीस लें, फिर निचोड़कर इसका रस निकाल लें। इसमें एक चम्मच नींबू का रस मिलाएं और चेहरे व अन्य प्रभावित त्वचा पर इसे लगाएं। इसे 30-40 मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें। इसके बाद ताजे पानी से धो लें।

रीठे के छिलके और तुलसी के पत्ते : चेहरे की झाइयाँ को दूर करने के लिए रीठे के छिलकों को पानी में पीसकर झाई वाले स्थान पर लगाये. तथा दूसरे सप्ताह में तुलसी के पत्तो को पानी में पीसकर झाइयों वाली जगह पर लगाये. इस तरह दो सप्ताह में ही झाइयाँ दूर हो जायंगी तथा चेहरे पर पहले जैसा आकर्षण और निखार आ जाएगा।

शहद और सिरका : शहद का उपयोग भी झाइयों के लिए उत्तम होता है, इसके लिए एक चमच्च शहद में एक चम्मच सिरका मिलाकर झाइयों वाली जगह पर लगाए. इसका प्रयोग दिन में केवल एक बार ही करें।

संतरे के छिलके, शहद और दूध का फेस पैक : संतरे के छिलके को दो दिन तक धूप में सुखा कर पीस लें। एक चम्मच संतरे के पाउडर में एक चम्मच शहद और आधी चम्मच दूध मिला के पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को चेहरे पर लगा दें और जिस जगह झाइयां है वहां हल्की मालिश करें। 15 मिनट के बाद चेहरे को साफ पानी से धो लें। इस उपाय को हफ्ते में तीन बार करें।

बादाम तेल, निम्बू और ग्लिसरीन : रात में सोने से पूर्व एक चमच्च बादाम के तेल में ग्लिसरीन और 3-4 बुँदे निम्बू के रस की मिलाकर चेहरे, गर्दन व बाहों पर लगा लें. तथा सुबह हलके गुनगुने पानी से धो लें. कुछ ही दिनों में त्वचा पहले से अधिक स्वस्थ नजर आयगी।

बादाम, निम्बू और ग्लिसरीन : दो चम्मच बादाम रोगन, दो चमच्च सिरका या निम्बू का रस तथा एक चम्मच ग्लिसरीन मिलाकर फेंटें. इस लेप को रोजाना रात में सोने से पूर्व 2-3 मिनट के लिए चेहरे की मालिश के लिए प्रयोग करें।

बादाम, शहद और हाइड्रोजन पैराक्सइड : एक बादाम को घिसकर उसमें एक चम्मच शहद तथा एक चमच्च हाइड्रोजन पैराक्साइड मिलाकर झाइयों वाले स्थान पर लगाये इसके लगभग 30 मिनट पश्चात चेहरा धो लें. कुछ ही दिनों में चेहरे की झाइयाँ गायब होने लगेगी।

निम्बू, शहद और हाइड्रोजन पैराक्सइड : एक चम्मच निम्बू के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर उसमें कुछ मात्रा हाइड्रोजन पैराक्सइड की भी मिला लें. इस पेस्ट को चेहरे पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें. इसके नियमित इस्तेमाल से आपको अवश्य लाभ होगा।

दूध और हाइड्रोजन पैराक्सइड : दो चमच्च दूध का पाउडर में दो चमच्च हाइड्रोजन पैराक्सइड मिला लें. अब इस लेप को पूरे चेहरे पर लगाये और सूखने के बाद ठन्डे पानी से चेहरा धो लें।

दूध, खीरे, निम्बू, सोयाबीन और जौं का फेस पैक : तीन चमच्च दूध के पाउडर में आधा कप खीरे का पेस्ट, एक निम्बू के रस, एक चमच्च सोयाबीन अथवा जौं का आटा मिलाकर एक लेप तैयार कर लें और इसे फ्रिज में रखें. प्रतिदिन इससे मालिश करें तथा मालिश के बाद इसे चेहरे पर लगाकर कुछ देर के लिए सूखने दें उसके बाद मसलकर धो लें. इसके नियमित इस्तेमाल से चेहरे की झाइयाँ तो दूर होंगी ही साथ साथ त्वचा की रंगत भी निखरेगी।

दूध, हल्दी और चंदन का फेस पैक : कच्चे दूध में चुटकी भर हल्दी और चंदन पाउडर मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें. इसको प्रतिदिन चेहरे पर लगायें. इससे चेहरे की झाइयाँ और त्वचा का कालापन दूर हो जायगा।

केले और शहद का फेस पैक : केले में शहद मिलाकर चेहरे पर 15 – 20 मिनट के लिए लगायें और फिर गुनगुने पानी से चेहरा धो लें. इससे झाइयाँ आना कम होंगी।

उपरोक्त लिखे उपायों में कोई भी उपाय जो आपको आपकी त्वचा के हिसाब से ठीक लगे तथा सरल लगे यदि आप उसे नियमित रूप से अपनायेगी तो निश्चित रूप से आपको लाभ होगा. इसके साथ साथ आपको आपकी दिनचर्या, आदत व खान-पान पर भी ध्यान अवश्य रखना होगा।

झाइयाँ होने पर कुछ सामान्य ध्यान देने योग्य बातें | Pigmentation

झाइयाँ होने पर अक्सर महिलाएं ब्लीच का इस्तेमाल करती है. वें यह सोचती है कि ब्लीच झाइयाँ छिपाने का सबसे बढ़िया तरीका है, जो कि बिलकुल गलत है। ब्लीच झाइयों को छिपाता अवश्य है परन्तु केवल कुछ समय के लिए ब्लीच से झाइयों के दागो में बहुत कम समय के लिए ही परिवर्तन आता है।

इसके साथ साथ ब्लीच करवाने के बाद हमारी त्वचा सूर्य की किरणों के प्रति अधिक संवेदनशील हो जाती है. जिसके परिणामस्वरूप अल्ट्रा-वायलेट किरणों के प्रभाव के कारण झाइयाँ और अधिक गहरी हो जाती है।

इसके अलावा लम्बे समय से हमारी त्वचा पर रही झाइयाँ या झाई हमारी त्वचा के लिए और अधिक हानिकारक हो जाती है. झाइयाँ अधिक पुरानी होने पर अधिक गहरी हो जाती है तथा फिर इनका इलाज करना आसान नहीं रह जाता, पुरानी होने पर इनका इलाज भी मुश्किल हो जाता है।

ऐसी स्तिथी में इनका इलाज किसी कुशल व अनुभवी विशेषज्ञ द्वारा करना चाहिए. अतः झाइयों का इलाज जितना जल्दी हो सके प्राकर्तिक तरीकों से कर लेना चाहिए. ईलाज से बेहतर है कि हम कुछ छोटी छोटी बातों को ध्यान में रखकर अपनी त्वचा को झाइयों से बचाए रखे।

1. अपनी त्वचा को सुन्दर व आकर्षक बनाए रखने के लिए यह आवश्य है कि त्वचा को धूप, धूल और मिट्टी से बचाए रखे, बाहर जाने से पहले किसी अच्छी किस्म का आयुर्वेदिक सनस्क्रीन लोशन का उपयोग करे।

2. जितना हो सके सौन्दर्य प्रसाधनों का कम से कम प्रयोग करें. यदि इनका प्रयोग करें भी तो इस बात को अवश्य ध्यान में रखे कि रात को सोने से पूर्व चेहरा अच्छी प्रकार से साफ़ कर लें।

3. शरीर में रक्त की मात्रा कम होने पर भी हमारी त्वचा की कांति कम होने लगती है इसीलिए समय समय पर रक्त की जांच करवाए यदि रक्त में हीमोग्लोबिन की मात्रा कम हो तो अपने खान-पान पर पूरा ध्यान दें।

4. सम्भव हो तो बाहरी प्रसाधनों से ब्लीचिंग न करवाएं, इससे त्वचा सूर्य की अल्ट्रा वायलेट किरणों के प्रति और अधिक संवेदनशील हो जाती है, जिससे त्वचा और अधिक भद्दी नजर आती है. आप ब्लीचिंग के लिए घरेलू प्रसाधनों का प्रयोग कर सकती है. यह बाहरी सौन्दर्य प्रसाधनों की अपेक्षा एक बेहतर विकल्प है।

5. अपनी दिनचर्या में सुधार लाए, नियमित रूप से व्यायाम आपके शरीर के साथ साथ आपकी त्वचा के लिए भी अच्छी होता है. भोजन में पर्याप्त मात्रा में फल, दालें, हरी सब्जियाँ आदि को शामिल करें।

6. पर्याप्त मात्रा में नींद लें. अपने आप को चिन्ता व परेशानियों से दूर रखें. यदि आप अंदर से खुश रहेंगी तो आपकी त्वचा खुद-ब-खुद खिल उठेगी।

7. सौन्दर्य के लिए फल और तरल पदार्थ, बिना नमक मिर्च वाले खाना जहाँ वरदान है वही जंक फ़ूड जैसे पिज़्ज़ा, बर्गर, चिप्स और डिब्बा बंद खाद्य पदार्थ सेहत के साथ साथ हमारी सौन्दर्य को भी बिगाड़ते है. अतः जितना हो सके हमें जंक फ़ूड से दूर रहना चाहिए।

8. इसके अलावा सुंदर त्वचा के लिए जिंक भी बहुत फायदेमंद तत्व होता है यह मृत त्वचा को हटाकर नई त्वचा बनाने में मदद करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!