fbpx
Home » आँख » आंखों में फेवीक्विक, कचरा और धूल जाने पर क्या करे

आंखों में फेवीक्विक, कचरा और धूल जाने पर क्या करे

थोड़ी सी चूक से कभी-कभी अचानक आपकी आंख में भी कूड़ा, कचरा या कुछ सिंथेटिक ग्लू जरुर गया होगा। ऐसे में आंख में किरकिरा या दर्द सा महसूस होता है, जिससे आंख को खोलना बेहद मुश्किल होता है।

ऐसे में अगर आप भी आंखों को रगड़ते हैं, तो ये आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसलिए आज हम आपको आंख से कचरा यानि कूड़ा और धूल को निकालने के आसान टिप्स बता रहे हैं। जो बेहद सरल होने के साथ आंखों को सुरक्षित भी रखते हैं।

अगर आप भी आंख में कुछ चीज जैसे – फेवीक्विक कचरा,धूल आदि जाने पर उसे रगड़ते हैं या आंख खोलने में दिक्कत महसूस करते हैं, तो परेशान न हो, क्योंकि आज हम All Ayurvedic के माध्यम से आपके लिए लेकर आएं हैं आंख से कचरा निकालने वाले टिप्स…

आंखों में फेवीक्विक चले जाने पर :

फेवीक्विक को बहुत ही सावधानी से इस्तेमाल करें और बच्चों की पहुंच से बिल्कुल दूर रखें फेविक्विक प्रयोग करने वाले व्यक्ति को चाहिए कि वह प्रयोग के समय अपने हाथों को गीला रखे दूसरा फेविक्विक की ट्यूब को खोलते समय ट्यूब अपने मुँह से दूर रखे।

अगर गलती से यह आंख में चला जाये तो घबराएं नहीं, प्रभावित स्थान पर तुरंत ठंडे पानी के बार-बार छींटे मारें और उसके बाद डॉक्टर को अवश्य दिखाएं आंख को बंद न होने दें, और आंख के आसपास ऊपर और नीचे के हिस्से को पकड़कर रखें ताकि (बाह्य परत) चिपक न सके आंख को बार-बार रगड़ें नहीं,आँख को मसलें नहीं।

मसलने से आँख में घाव हो सकता है घाव अधिक होने पर कईबार आँख की रोशनी जाने का खतरा पैदा हो जाता है।

हालांकि फेवीक्विक में जाने के बाद ये उपाय काफी नहीं हैं लेकिन प्राथमिक उपचार के तौर पर ये बहुत काम सकते हैं जिसके बाद जितनी जल्दी हो सके डाक्टर से सम्पर्क करें।

आंखों में जलन और खुजली होने पर :

अगर 10 मिनट तक आपकी आंखों में कुछ किरकिरा महसूस हो रहा हो, तो ऐसे में सभी घरेलू उपाय अपनाने के बाद आप कोई सामान्य आई ड्रॉप् को डालकर कुछ देर आंखें बंद करके रखें।

अगर 10-15 मिनट के बाद भी आंखों से बाल या कचरा निकल नहीं रहा है, तो ऐसे सबसे पहले किसी करीबी की मदद लें। अगर उसके बाद भी आराम न मिले, तो डॉक्टर की सलाह लें। इससे आपको लाभ मिलेगा।

आँखों में कचरा, धूल आदि के कण जाने पर ऐसे निकालें :

सूती कपड़े को पानी में भिगोएं और आंखों के कोनों पर इसे रखकर दवाएं। बस इतना ध्यान रखें कि कॉर्निया को मसलें नहीं, ये संवेदनशील होता है, इसे नुकसान न पहुंचाएं। सूती कपड़ा सफेद होगा तो आपको आंख में फंसा धूल का कण निकलने के बाद दिख जाएगा।

अगर आप खुद अपनी आंखों से धूल मिट्टी निकाल न पाएं तो अपने दोस्त की मदद लें। अपनी पलकों को ऊपर की तरफ उठाएं ताकि आसानी हो। ध्यान रखें, जब आंख में कुछ चला जाए तो ज़ोर से उसे मसले नहीं। ऐसा करने से वो कचरा या कण आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है और, ज्यादा गहराई में फंस सकता है।

अगर आपकी आंख में कूड़ा या धूल चली गई है, तो ऐसे में मुंह में पानी भरे और एक गुब्बारा बनाएं, अब दोनों आंखों पर पीने वाले साफ पानी को हल्के हाथ से मारें। इस प्रक्रिया को 4-5 बार दोहराएं।

आप आंख से कचरा निकालने के लिए किसी बड़े बर्तन में पानी भरें और उसमें आंखों को खोलकर डुबाने की कोशिश करें और पुतलियों को गोल-गोल घुमाएं। इस प्रक्रिया को 5-6 बार दोहराएं हैं।

अगर आपकी आंख में बाल या धूल चली गई है, तो ऐसे में आंख के निचले हिस्से को मोड़ते हुए आंख के अंगर की ओर घुमाएं, फिर वापस सामान्य हो जाएं, इससे आपकी आंख सही से खुल पाएगी। याद रखें हाथ हमेशा साबुन से धुलें हों।

आंखों की सेफ्टी के लिए कभी भूलकर भी न करें ये काम :

कभी भी आंख से कूड़ा या कीचड़ को निकालने के लिए रूई या कॉटन बॉल्स का यूज न करें। इससे उनके रेशे आंख में चिपके रह सकते हैं, जो आपको आगे परेशानी उत्पन्न कर सकते हैं।

अगर आपकी आंख में कूड़ा या धूल चला गया है, जिसकी वजह से आपको देख पाने में दर्द या किरकिराहट महसूस हो रही है, तो ऐसे में कभी कभी गंदे या मैले हाथ लगाने से बचें। इससे आपकी आंख में इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।

कभी भी आंख में कूड़ा निकालने के लिए किसी नुकीली चीज का उपयोग न करें, इससे आपकी आंख को गहरा नुकसान हो सकता है। आपका रेटिना यानि पुतली पर चोट लग सकती है।

अगर आपकी आंख में कोई कूड़ा या छोटा कीड़ा चला गया है, तो ऐसे में कभी भी अपनी आंखों को जल्दी-जल्दी झपकाएं नहीं, इससे कूड़े या कीड़ा अंदर जाने की आशंका बढ़ जाती है। जिससे आंख में संक्रमण फैल सकता है।

अगर आपकी आंख में केमिकल का काम करते समय केमिकल का कुछ जरा सा हिस्सा चला जाए,तो ऐसे में आप अपनी ईलाज करने की जगह डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *