fbpx

कुंडली में कमजोर बुध के लक्षण और उपाय

बुध आपकी जुबान, बर्ताव, आपके दिमाग और आपकी चपलता और तर्क का कारक ग्रह है।
कुंडली में बुध की स्थति तय करती है कि आप कैसा बोलते हैं, कैसा व्यवहार करते हैं, आपका व्यक्तित्व और बुद्धि कैसी है.

बुध का महत्व और विशेषताएं
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
बुध को ग्रहों में सबसे सुकुमार और सुन्दर ग्रह माना जाता है।
ज्योतिष में बुध को युवराज ग्रह भी कहते हैं। कन्या और मिथुन राशी का स्वामी बुध है और इसका तत्व पृथ्वी है। बुद्धि, एकाग्रता, वाणी, त्वचा, सौंदर्य और सुगंध का कारक होता बुध है। कान, नाक, गले और संचार से भी बुध का संबंध है। बुध बुद्धि तेज करता है। गणितीय और आर्थिक मामलों में कामयाबी दिलाता है।

बुध से बुद्धि, वाणी और एकाग्रता की समस्या
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
आपको लगता है कि आपकी सोचने और समझने की शक्ति कमजोर है. कोई भी फैसला लेने में आपको वक्त लगता है और आपका ध्यान भी बार-बार भटकता है तो हो सकता है कि आपका बुध कमजोर हो।

बुध कमजोर हो तो इंसान अपनी बुद्धि का सही प्रयोग नहीं कर पाता। किसी भी निर्णय पर जल्दी नही पहुच पाता । व्यापार में घाटे होते है । व्यवहार में रूखापन होता है । वाक्पटुता नही होती ।
अत्यधिक कृपणता (कंजूसी) भी बुध के दिये गए अवगुण है ।
तुतलाहट , जबान का फसना, गले मे गिल्टियां निकलना, दांतो- मसूड़ो की समस्या, बहुत अधिक वहम पालन । किसी भी तरह के Obsessive compulsive disorder – OCD ये सब खराब हो गए बुध की निशानिया है ।

ऐसे इंसान को कोई भी चीज देर से समझ आती है और वह अक्सर दुविधा में ही रहता है।

बुध से बुद्धि, वाणी और एकाग्रता की समस्याओं के उपाय
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
रोज सुबह नाभि जुबान माथे पर केसर और हल्दी का तिलक करें। इसके बाद 108 बार ‘ॐ ऐं सरस्वतयै नमः’ का जाप करें।

बुधवार को गणेश जी को दूर्वा चढ़ाएं ।

बुध के कारण त्वचा की समस्या


〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
कमजोर बुध कभी-कभी त्वचा से जुड़ी समस्याएं भी देता है.
कमजोर बुद्ध से एलर्जी, दाने और खुजली की समस्या होती है। सूर्य का प्रभाव हो तो त्वचा पर दाग-धब्बे पड़ जाते हैं। मंगल का भी प्रभाव हो तो त्वचा झुलस सी जाती है। राहु का योग हो तो विचित्र तरह की त्वचा की समस्या होती है।

बुध के कारण त्वचा की समस्या के उपाय
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
रोज सुबह सूर्य को जल चढ़ाएं. ज्यादा से ज्यादा हरी सब्जियों और सलाद का सेवन करें।

प्रभावित जगह पर नारियल का तेल लगाएं।

अगर त्वचा की समस्या ज्यादा हो तो एक ओनेक्स पहनें।

बुध से कान, नाक और गले की समस्या
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
बुध बहुत कमजोर हो तो सुनने और बोलने में दिक्कत होती है। कभी-कभी गला खराब हो जाता है और लगातार खराब ही रहता है।

सर्दी-जुकाम की समस्या हो सकती है, किसी खास तरह की गंध से एलर्जी होती है।

बुध से कान, नाक और गले की समस्या के उपाय


〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
रोज सुबह गायत्री मंत्र का जाप करें या मन में दोहराएं।
चांदी के चौकोर टुकड़े पर “ऐं” लिखवाकर गले में पहनें।
ज्यादा से ज्यादा हरे कपड़े पहनें।
रोज सुबह स्नान के बाद पीला चन्दन माथे, कंठ और सीने पर लगाएं।

कमजोर बुध से गणित से जुड़े विषयों की समस्या
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
कई बार पढ़ाई-लिखाई में कड़ी मेहनत करने के बावजूद कुछ लोग गणित और इससे जुड़े विषयों में कमजोर ही रह जाते हैं. ज्योतिष के जानकारों की मानें तो इसका कारण कमजोर बुध हो सकता है।

बुध कमजोर हो तो गणित या गणित से जुड़े विषयों में समस्या होती है। गणित से मिलते जुलते विषय जैसे – अकाउंट्स, इकोनॉमिक्स या सांख्यिकी में भी दिक्कत होती है।
इंसान को बार-बार इन विषयों में नाकामी का सामना करना पड़ता है।

कमजोर बुध के चलते गणित से जुड़ी समस्याओं के उपाय
〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️〰️
अपनी इच्छा से ही गणित से जुड़े विषय चुनें, जबरदस्ती नहीं।
रोज सुबह और शाम “ॐ बुं बुधाय नमः” मंत्र का जाप करें। अपने पढ़ने की जगह पर कोई हरे रंग की देव प्रतिमा लगाएं। एवं खाने में थोड़ी सी हरी मिर्च का प्रयोग जरूर।

ज्योतिषाचार्य मनीष कुमार शुक्ल ।। प्रयागराज ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!