fbpx
Home » बलवान » हर उम्र में जवाँ रहने का उपाय

हर उम्र में जवाँ रहने का उपाय

हमारे बहुत से मित्र हमसे अक्सर वजन बढ़ानें और सेहत को बेहतर बनाने के लिये किसी प्रयोग के बारे में पूछते ही रहते हैं। हमने पहले भी कई बार काफी अच्छे प्रयोग अपडेट किये हैं और आज भी हम All Ayurvedic के माध्यम से एक बहुत ही विशेष प्रयोग जो गोंद बना है यह सभी मौसम में ले सकते है लेकिन सर्दियों में सबसे उत्तम है।

आज पोस्ट कर रहे हैं, विशेष इसलिये क्योंकि यह हमारा खुद बहुत से लोगो पर सफलतापूर्वक आजमाया गया प्रयोग है। यह महाशक्तिशाली लड्डू शरीर मे ऊर्जा बढाएं, बुढ़ापे में जवाँ बनाएँ, कमजोरी दूर करे, शरीर को पुष्ट बनाएँ और इसकी खास बात यह कि इसको आप घर पर ही बना सकते हो । आइये पढ़ते हैं इस प्रयोग के बारे में….

सबसे पहले नीचे लिखी सामग्री उल्लेख की गयी मात्रा में एकत्र करें

सोयाबीन के दानें – 200 ग्राम, काला देशी चना – 200 ग्राम, उड़द की धुली दाल – 200 ग्राम, सौंफ – 200 ग्राम, अजवायन – 200 ग्राम, अश्वगंधा चूर्ण – 200 ग्राम, शतावरी चूर्ण – 200 ग्राम, बादाम की गिरी – 200 ग्राम, खाने वाली गोंद – 400 ग्राम, देशी खाण्ड़  – 2 किलो ग्राम, गाय के दूध का घी ‌– जरूरत के अनुसार

बनाने की विधी

सबसे पहले नम्बर 1 से नम्बर 5 तक लिखी चीजों को एक साथ मिलाकर मिक्सी आदि में बारीक पाउडर कर लें और फिर नम्बर 6 और नम्बर 7 की चीजों को भी मिलाकर एक साथ अच्छे से मिला दें।

बादाम की गिरियों को छोटे छोटे आकार में काट कर रख लें और देशी खाण्ड को भी अलग से कूटकर रख लें। अब खानें वाली गोंद को थोड़ा दरदरा कूटकर कढ़ाही में में रखकर घी के साथ भून लें और अलग प्लेट में रख लें।

सबसे पहले नम्बर पर बनाया गया मिश्रण भी अब कढ़ाही में डालकर घी की जरूरी मात्रा मिलाकर सुनहरा होनें तक भून लें। अब इसको भी उतारकर ठण्डा होने के लिये रख दें।

जब ठण्डा हो जाये तो समस्त सामग्रियों को एक बड़े बरतन में ड़ालकर खूब अच्छे से मिलाकर बादाम की गिरियाँ भी मिला ले और समान आकार के 80 लड्डू बना लें।

सेवन विधी

4 से 8 साल तक के बच्चों को आधा आधा लड्डू सुबह और शाम को दूध के साथ रोज दें।

8 से 16 साल तक के बच्चों को एक-एक लड्डू रोज सुबह और शाम को दूध के साथ देना चाहिये।

16 साल से अधिक आयु के लोग एक दिन में अधिकतम चार लड्डू का सेवन कर सकते हैं।

यह लड्डू स्त्री और पुरुष दोनों ही सेवन कर सकते हैं।

विशेष नोट

ये सभी सामग्री आपको अपने आस-पास किसी जड़ी-बूटी वाले पंसारी की दुकान पर मिल जायेंगी। देशी खाण्ड किराने की दुकान पर अथवा हलवाई के पास आसानी से मिल जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *