fbpx
Home » पथरी » पथरी गलाने का उपाय

पथरी गलाने का उपाय

पथरी होना आजकल एक आम समस्या बन गयी है अगर किसी को पथरी हो जाये तो उसको बहुत तकलीफ झेलनी पढ़ती है इसीलिए आज हम आपको इस पोस्ट में पथरी के इलाज के बारे में बताएँगे जो एकदम सरल और प्रभावी भी है पथरी औरतों की अपेक्षा मर्दों में तीन गुना अधिक पाई जाते है और ज़्यादातर पथरी 20 से लेकर 30 साल तक के लोगों में देखने को मिलते है अगर आप जानना चाहते हैं के पथरी के लक्षण क्या होते हैं और इसका इलाज कैसे संभव है तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़िए।

पथरी एक ऐसा बिमारी है जो रोगी को बेहद असहनीय दर्द देता है। पथरी के रोगी को कई तकलीफों का सामना करना पड़ता है। आजकल के प्रदूषित वातावरण और गलत खाना-पान के कारण मनुष्य के शरीर में कई बीमारियों ने जन्म ले लिया है। पथरी बनने का मुख्य कारण होता है यूरिक एसिड, फोस्फोरस, कैल्शियम और ओक्जेलिक एसिड के मिलने से होता है। यह किसी भी इंसान को हो सकता है।

पथरी दो प्रकार के होते है एक बड़ा और एक छोटा। छोटा वाला पथरी बाहर निकल जाता है लेकिन बड़ा वाला नहीं निकल पाता जिस कारण से रोगी को बहुत दर्द सहना पड़ता है। आज हम आपको पथरी को तुरंत गला कर बाहर निकालने के कुछ घरेलु उपाय बताने जा रहे है।

पथरी होने के कारण

वैसे तो सामान्यतः पथरी किसी को भी हो सकती है लेकिन अधिकतर इसका एक मुख्य कारण ये देखा गया है की जब किसी खान पान की वजह से मूत्र गाढ़ा हो जाता है तो पथरी बनना चालू हो जाती है और ये गाढ़े पेशाब के कण धीरे धीरे जमा होने लगते हैं और कुछ दिनों में वो पथरी का रूप ले लेते हैं।

और जब ये मूत्र मार्ग में रुकावट डालते हैं मतलब के पेशाब करने पर दर्द महसूस होने लगता है तब रोगी को इसका एहसास होता है के उसको पथरी हो गयी है।

आवश्यक सामग्री

20 ग्राम तुलसी के सूखे पत्ते

20 ग्राम अजवायन

10 ग्राम सेंधा नमक

बनाने की विधि

20 ग्राम तुलसी के सूखे पत्ते, 20 ग्राम अजवायन और 10 ग्राम सेंधानमक लेकर पॉउड़र बनाकर रख लें। यह 3 ग्राम चूर्ण गुनगुने पानी के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम सेवन करने से गुर्दे का तेज दर्द दूर होता है और पथरी धीरे-धीरे गलाकर बाहर निकलती है।

पथरी गलाने के उपाय

मूली का 100 मिलीलीटर रस मिश्री मिलाकर सुबह खाली पेट सेवन करने से कुछ दिनों में ही गुर्दे की पथरी गलकर निकल जाती है और दर्द शान्त होता है।

100 मिलीलीटर नारियल का पानी लेकर, उसमें 10 मिलीलीटर पालक का रस मिलाकर पीने से 14 दिनों में पथरी खत्म हो जाती है। पालक के साग का रस 20 से 40 मिलीलीटर की मात्रा में प्रतिदिन सुबह-शाम खाने से पथरी में लाभ मिलता है।

25 ग्राम अजमोद को 500 मिलीलीटर पानी में उबालें और आधा रह जाने पर ठंड़ा करके आधा या 2 कप 3-3 घंटे के अन्तर पर रोगी को पिलाएं। इससे दर्द तुरन्त समाप्त हो जाता है।

कमलीशोरा, गंधक और आमलासार 10-10 ग्राम अलग-अलग पीसकर मिला लें और हल्की आग पर गर्म करने के 1-1 ग्राम का आधा कप मूली के रस के साथ सुबह-शाम लेने से गुर्दे की पथरी में लाभ मिलता है।

जीरा और चीनी को एक सामान मात्रा में लेकर अच्छे से पीस कर दिन में तीन बार एक-एक चम्मच पानी के साथ लेने से पथरी गल कर बाहर निकल जाता है।

पथरी को निकालने के लिए सबसे कारगर उपाय है। आंवले को सुखाकर उसका चूर्ण बना ले और हर दिन मुली के साथ खाने से पथरी बाहर निकल आती है।

पपीता खाने के कई फायदे होते है यह हम सभी जानते है लेकिन पपीते के पेड़ से भी हमें फायदा होता है यह बहुत कम लोग ही जानते है। 6 ग्राम पपीते के जड़ को अच्छे से पिस ले और एक कप पानी में घोल कर छान ले और इसका सेवन करे। पथरी जल्द ही बाहर निकल आएगी।

2 Comments

  1. vinod patel
    July 13, 2020 / 10:18 am

    hi
    you guys are awesome. thanks for sharing knowledge.

    I could not find any remedy for gallblader stones on our website.

    thanks in advance

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *