fbpx
Home » गठिया » शहद के साथ दालचीनी रामबाण औषधि | Honey and Cinnamon

शहद के साथ दालचीनी रामबाण औषधि | Honey and Cinnamon

शहद | दालचीनी | Honey | Cinnamon | Arthritis | Obesity | Weight Loss | Sciatica | Cancer | Heart Attack

हमारे दैनिक जीवन में मसालों का इतना महत्व है कि इनके बिना हम भोजन को चखने की भी कल्पना नहीं कर सकते। ये मसाले ना सिर्फ हमारे भोजन को स्वादिष्ट और सुगंधित बनाते हैं बल्कि अपने औषधीय गुणों से हमारे शरीर की रक्षा भी करते हैं।

ऐसे ही मसालों में से एक है दालचीनी। वैसे तो दालचीनी का प्रयोग हम खाने में स्वाद बढ़ाने और सुगंध लाने के लिए करते हैं, लेकिन नियमित तौर पर इसका प्रयोग, खासकर मधु यानी शहद के साथ, किसी औषधि से कम नहीं है।

यह गरम मसाले का एक अवयव है। इसमें कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन वसा और अनेक लाभकारी मिनरल्स आदि भी मौजूद होते हैं। आगे आप जानेंगे कि कैसे इस मसाले का इसका प्रयोग हमारे लिए वरदान साबित हो सकता है। आप एक चम्मच शहद को एक गिलास पानी में दो चुटकी दालचीनी मिलाकर रात को सोते वक़्त इसका सेवन कर सकते है।

शहद और दालचीनी के फायदे | Honey | Cinnamon | Arthritis | Obesity | Weight Loss | Sciatica | Cancer 

मोटापा कम करके ऊर्जा बढाए : मधु और दालचीनी की यह औषधि मोटापा कम करके एनर्जी गेन करने में भी काफी कारगर है। इसके लिए एक गिलास पानी में अनुपातिक रूप से एक चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर उबाल लें। फिर इसके बाद उसमें दो चम्मच शहद मिलाकर इस औषधि का सेवन रात को सोने से पहले किया जाए तो मोटापा जैसी गंभीर समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।

गठिया और सायटिका में अत्यंत लाभकारी : गठिया या साइटिका में जोड़ों के दर्द से होने वाली परेशानी बड़ी कष्टकारी होती है। दालचीनी इस रोग में भी काफी फायदेमंद है। इसके लिए नियमित रुप से एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर डाल कर सेवन करने से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

आमाशय के कैंसर में : अमाशय की दीवारों में अल्सर के कारण उत्पन्न होने वाले कैंसर से बचने के लिए एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर और एक चम्मच शहद मिलाकर रोजाना सेवन करने से इस तरह के कैंसर के खतरे से बचा जा सकता है।

सर्दी खांसी या जुकाम में : सर्दी खांसी या जुकाम वायरस के संक्रमण से होता है। ऐसे में एक या दो चम्मच शहद में एक चुटकी बारीक दालचीनी पाउडर मिलाकर सेवन करने से सर्दी जुकाम में काफी राहत मिलती है, और साथ ही इम्यूनिटी भी बढ़ती है। जिससे रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है।

हार्ट अटैक से बचाव : शहद के साथ दालचीनी के फायदे तो हमने देखे। लेकिन शहद उपलब्ध न होने पर अगर रोजाना की चाय में भी दालचीनी मिलाकर पिया जाए तो इससे हृदयाघात यानी हार्ट अटैक का खतरा कई गुना कम हो जाता है। इसके साथ ही यह ब्लड प्रेशर और सरकुलेशन को भी सामान्य करता है।

हाथ-पैर में झुंझनाहट या सुन्न होना : दालचीनी का प्रयोग करने से भी आपको अपने हाथों और पैरों की झनझनाहट को दूर करने में मदद मिलती है, क्योंकि इसके सेवन से आपके शरीर में मैग्नीशियम, और पोटैशियम के तत्वों की कमी को पूरा करने में माद्दा मिलने के साथ आपके ब्लड सर्कुलेशन में भी मदद मिलती है, इससे बचने के लिए आपको एक गिलास में दालचीनी पाउडर को उबाल कर उसके गुनगुना रहने तक उसका सेवन करना चाहिए इसके अलावा आप दालचीनी पाउडर के साथ थोड़ा अदरक भी उबाल सकते है, और उसमे एक चम्मच शहद मिलाकर लेते हैं तो भी आपको फायदा होता है।

दालचीनी के अन्य फायदे | Cinnamon Benefits

अच्छी नींद : जिन भी लोगों को रात में नींद नहीं आती है उन्हें सोने से पहले 1 गिलास दूध का सेवन अवश्य करना चाहिए। इससे नींद बहुत अच्छी आएगी।

डायबिटीज : दालचीनी में कई सारे ऐेसे कंपाउंड मौजूद होते हैं जो शरीर में शुगर लेवल को पूरी तरह कंट्रोल में रखते हैं। ऐसे में डायबिटीज के रोगी के लिए दालचीनी वाला दूध अत्यधिक फायदेमंद होता है।

पाचन क्रिया : दालचीनी वाला दूध पीने से पाचन क्रिया पूरी तरह स्वस्थ होती है और पेट में एसिडिटी की कोई समस्या भी नहीं रहती। ऐसे में जिन लोगों को खाना पचाने में बहुत मुश्किल होती है उन्हें हर रोज इसका सेवन अवश्य करना चाहिए।

मजबूत हड्डियां : दालचीनी के सेवन से हड्डियां अत्यधिक मजबूत होती हैं। जिन लोगों को गठिया की गंभीर समस्या होती है उन्हें नियमित रूप से इस दूध का सेवन अवश्य करना चाहिए।

ब्लड शुगर लेवल : कई अध्ययनों में इस बात की पुष्ट‍ि हो चुकी है कि दालचीनी में कई ऐसे कंपाउंड पाए जाते हैं जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद करते हैं. दालचीनी वाला दूध खासतौर पर टाइप-2 डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है.

खूबसूरत बालों और त्वचा : दालचीनी वाला दूध पीने से बालों और स्क‍िन से जुड़ी लगभग हर समस्या दूर हो जाती है. इसका एंटी-बैक्टीरियल गुण स्क‍िन और बालों को इंफेक्शन से सुरक्षित रखता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *