fbpx

वजन कम करने के लिए सुबह करे 5 उपाय

नमस्कार दोस्तों All Ayurvedic में आज हम आपके लिए आपके वजन को कम करने से जुड़ी समस्या का हल लेकर आये हैं। आज यह समस्या आम बन चुकी है। लोग अपना वजन कम करने के लिए कुछ न कुछ करते रहते हैं।

सुबह अच्छी होने पर आपका पूरा दिन अच्छा जाता है, पर अगर सुबह ख़राब है तो पूरा दिन भी ख़राब ही बीतता है। सुबह का समय सभी कामों के लिए सबसे अच्छा माना जाता है।

लेकिन क्या आप जानते हैं की सुबह के समय की गयी छोटी-छोटी ग़लतियों का असर आपके सेहत पर भी पड़ सकता है। अगर आप चाहते हैं की आपकी सेहत अच्छी बनी रहे तो आपको ध्यान रखनी होंगी कुछ ख़ास बातें। सुबह की ग़लत आदतें आपके सेहत को तो बिगाड़ ही सकती हैं साथ ही आपको मोटा भी बना सकती हैं। अगर आप चाहते हैं की आपका वज़न ना बढे तो ध्यान रखिये इन बातों का….

आधुनिक जीवन शैली के कारण, शारीरिक गतिविधि कम हो जाती है। कम शारीरिक गतिविधि के कारण हमारा शरीर मोटा हो जाता है, जिससे वजन बढ़ जाता है और स्वास्थ्य पर हानिकारक प्रभाव डालता है। मोटापा अनगिनत बीमारियों का स्रोत है, जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं। घुटने का दर्द, मधुमेह, दिल संबधित बीमारियां और उच्च रक्त चाप आदि। यदि कोई व्यक्ति स्वस्थ जीवनशैली और आयुर्वेदिक जड़ी बूटी का पालन करता है, तो इससे वज़न कम हो सकता है, और मोटापे के खराब प्रभावों को कम किया जा सकता है। वजन घटाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक जड़ी बूटीयां है, जिनका आप पाउडर के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते है।

बदलती जीवनशैली से आज कल पेट की चर्बी का बढ़ना बहुत ही ज्यादा इंसानों में पाया जा रहा है। लगभग 60 प्रतिशत लोगों को पेट की चर्बी का सामना करना पड़ता है पेट की चर्बी बढ़ने से वजन बढ़ जाता है और साथ ही साथ पेट भी बाहर निकल जाता है जिससे उठने बैठने, सौच करने और भी बहुत सारे कामो में दिक्कत होती है।

बिना खाना कम किये वजन घटाने के नुस्खे

वजन कम करने का आसान उपाय

तेजी से वजन कम करने का एक उपाय

गर्मी की शुरुआत में मोटापा कम करने का उपाय

लेकिन क्यों न कुछ ऐसा तरीका अपनाया जाए जिससे पेट की चर्बी आसानी से कम हो जाये और तरीका भी खुद ही बना लें। तो आज के इस पोस्ट में हम आपको एक ऐसा तरीका बताने वाला है जिसे यूज़ करके आप अपने पेट की चर्बी को बहुत हद तक कम कर सकते हैं तो यदि आप भी अपने पेट की चर्बी को कम करना चाहते हैं तो ये पूरी पोस्ट अंत तक जरूर पढ़ें।

रोज सुबह वजन कम करने के लिए ये 5 काम करे | Weight Loss

सुबह उठकर पियें पानी : पानी पीने के फ़ायदे हर कोई जानता है। रोज़ सुबह उठकर अगर आप एक या दो गिलास गुनगुना पानी पियेंगे तो आपका पेट साफ़ रहेगा और आपके शारीर से विषैले तत्व बाहर निकल जायेगे। शरीर से विषैले तत्व निकलने पर शारीर का मेटाबोलिज्म अच्छा हो जाएगा और आपका वज़न कम करने में मदद करेगा।

पूरी नींद : अच्छी और पूरी नींद हमारे शारीर के मेटाबोलिज्म को स्ट्रांग बनती है। पूरी नींद ना लेने पर मोटापा बढ़ने वाले होरमोंस बढ़ जाते हैं, जिससे की आपका वज़न बढ़ने लगता है। इसलिए कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद हर किसी को लेनी चाहिए।

समय पर करें नाश्ता : दिन के तीन मीलों में सुबह का नाश्ता सबसे ज़रूरी होता है। समय से नाश्ता ना करने वालों में पोषक तत्वों की मात्रा में कमी आ जाती है। नाश्ता करने से मेटाबोलिज्म मजबूत बना रहता है। मेटाबोलिज्म धीमा व कमज़ोर होने पर बॉडी में जमा फैट बर्न नहीं होता और आपका वज़न बढ़ने लगता है।

नाश्ते में लें प्रोटीन : सुबह केवल नाश्ता करना ही काफी नहीं है। ज़रूरी है की आप अपने नाश्ते में प्रोटीन से भरपूर पदार्थों को भी शामिल करें। नाश्ते में अंडा, ड्राई फ्रूट्स, दूध व दही जैसी चीज़ों को शामिल करें। सुबह का नाश्ता हमेशा हैवी होना चाहिए। प्रोटीन हमारे शारीर की कोशिकाओं की मरम्मत करते हैं।

एक्सरसाइज : अगर आप कसरत नहीं करते तो जल्द ही अपनी डेली रूटीन में कम से कम आधे घंटे की एक्सरसाइज ज़रूर डालें। थोड़े से शुरुवात करें फिर धीरे-धीरे इसे बढ़ाने की कोशिश करें। नियमित एक्सरसाइज से कैलोरी बर्न होती है और आपका शारीर एक्टिव बना रहता है।

पेट की चर्बी कम करने का आयुर्वेदिक उपाय | Weight Loss

त्रिफला : हरितकी, बिभातीकी और अमलाकी अर्थात हर्रा, बहेड़ा और आँवला नाम की तीन जड़ी-बूटियों का एक शक्तिशाली मिश्रण है। यह कब्ज कम करने और पाचन में सुधार करने में बहुत प्रभावी है। यह पाचन तंत्र में अवरोधन को साफ करने में भी मदद करता है। इसे विटामिन सी और कैल्शियम का सर्वश्रेष्ठ स्रोत माना जाता है। ये विषाक्त पदार्थों को नष्ट करने और शरीर को पोषण करने में सहायक हैं। त्रिफला शरीर से अतिरिक्त वसा साफ करने में भी मददगार है। आप त्रिफ़ला की १ चम्मच हल्के गरम पानी से प्रतिदिन सुबह लेनी है।

अशोक : अशोक वजन घटाने के लिए प्राकृतिक जड़ी बूटी है, इसके फूल पीले-नारंगी रंग में होते हैं। इस पेड़ के सूखे छाल, स्टेम और फूलों में औषधीय गुण मौजूद होते है, जो बवासीर, मासिक धर्म संबंधी विकार, जलन को कम करने, कीड़े निकालने, सूजन को कम करने और रक्त की अशुद्धियों को हटाने में मदद करता है।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!