fbpx

कमरदर्द, जोड़ो का दर्द, वजन बढ़ाना, खून की कमी, शारिरिक कमजोरी का घरेलू उपाय

  • सुबह खाली पेट नीचे बताये गए मिश्रण में से चार दाने किशमिश खाना स्वास्थ के लिए बहुत फायदेमंद होता है क्योंकि किशमिश में बहुत ऐसे तत्व होते है जो हमारे शरीर के लिए बहुत गुणकारी होते हैं शायद आप जानते होंगे की किशमिश के सेवन से रक्त, कमज़ोरी आदि तथा ओज की मात्रा बढ़ती है जो कि आपकी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है।
  • किशमिश में भरपूर मात्रा में आयरन, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फाइबर पाया जाता है। साथ ही इसमें दूध में मौजूद हर तत्व पाया जाता है। आज हम आपको All Ayurvedic के माध्यम से एक ऐसा नुस्खा बताने जा रहे है जिसका सेवन करने से शारीरिक शक्ति के साथ कमर दर्द, जोड़ों के दर्द, खून की कमी को दूर करने में भरपूर मददगार है।

आवश्यक सामग्री 

  1. किशमिश 100 ग्राम,
  2. शहद 100 ग्राम और

मिश्रण बनाने की विधि

  • किसी बर्तन में शहद और किशमिश को डालकर इस तरह हिलाएं की मधु (शहद) और किशमिश में अच्छी तरह भीग जाय और फिर इस मिश्रण को एक काँच के जार में कार्क या ढ़क्कन लगाकर दो दिन के लिए छोड़ दे। दो दिन बाद आपकी चमत्कारी औषधि  तैयार है।

सेवन का तरीका और इस मिश्रण के फायदे

  • अब आप इसमें से जब भी किशमिश को निकाले थोडा हिला ले ताकि आपस में सभी मिल जाय और चार दाने किशमिश निकालकर सुबह खाली पेट रोजाना सेवन करें इसके लगातार सेवन करने से शारीरिक शक्ति बढती है, अगर कमर दर्द की शिकायत हो तो ठीक हो जाता है खून की कमी और जोड़ों के दर्द आदि दूर कर शारीरिक एनर्जी मिलती है।

वजन बढ़ाने के लिए :

  • किशमिश खाने के फायदे आपको अपने शरीर को स्वस्थ बनाने के लिए और इससे दुबलापन हटाने के लिए किशमिश का सहारा भी लेना है। 50 ग्राम किशमिश रात को पानी में भिगो दे। सुबह भली प्रकार चबा चबा कर खाएं। दो तीन माह के प्रयोग से वजन बढेगा। आपको बता दें कि किशमिश में कैलोरी की मात्रा बहुत ज्यादा होती है।

शरीर को शक्तिशाली बनाना : 

  • सुबह के समय लगभग 25 से 30 किशमिश को गर्म पानी से धोकर साफ कर लें और फिर इसे कच्चे दूध में डाल दें। आधे या एक घंटे बाद किशमिशों को दूध के साथ गर्म करके खाएं और ऊपर से दूध पी लें। इससे शरीर में खून बढ़ता हैठंडक दूर होती हैपुरानी बीमारीअधिक कमजोरीयकृत/लिवर की खराबी और बदहजमी दूर होती है।

किशमिश के 7 अन्य फायदे :

  1. इम्यूनिटी : किशमिश में वे सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी बढ़ाने में सहायक होते हैं। ठण्ड में प्रतिदिन इसका सेवन करने से बैक्टीरिया और इंफेक्शन (संक्रमण) से लड़ने में सहायता मिलती है।
  2. एनीमिया : किशमिश में आयरन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। प्रतिदिन पानी में भीगे हुए किशमिश खाने से शरीर में खून बढ़ता है और इस प्रकार एनीमिया से बचाव होता है।
  3. उर्जा : किशमिश में उपस्थित फ्रक्टोस और ग्लूकोज़ बहुत अधिक मात्रा में उर्जा प्रदान करते हैं। अत: सीमित मात्रा में इसका सेवन करने से कमजोरी नहीं आती और वज़न भी बढ़ता है।
  4. पोषक तत्व : किशमिश खाने से ब्लड बनता है, वायु, पित्त और कफ दोष दूर होता है और यह हृदय के लिये बहुत लाभकारी होती है। किशमिश ऊर्जा और अन्य आवश्यक पोषक तत्वों का एक समृद्ध स्रोत हैं। बाजार में उपलब्ध किशमिश के विभिन्न प्रकार हैं। इनमें से कुछ हैं: सुल्ताना, मैलेगा, मोनुक, ज़ांटे कर्रेंट, मस्कट और थॉम्पसन बीनलेस।
  5. कब्ज : किशमिश खाने से कब्ज के मरीजों को आराम मिलता है। अगर आपके घर में किसी को कब्ज है तो उसे किशमिश जरूर खिलाये। 
  6. वजन बढ़ाए : वजन बढ़ाने के लिए भी किशमिश का सेवन किया जाता है. उम्र के हिसाब से अगर आपका वजन कम है तो किशमिश खाये जल्दी ही आपका वजन बढ़ने लगेगा।
  7. खून की कमी : शरीर में खून की कमी को दूर करने के लिए भी किशमिश खायी जाती है. किशमिश में विटामिन बी काम्प्लेक्स पाया जाता है तो शरीर में खून की मात्रा को बढ़ाता है।

ध्यान में रखें ये बात

  • डायबिटीज के रोगी इसके इस्तेमाल से परहेज करें। इसके सेवन के दौरान शक्कर का इस्तेमाल थोड़ा कम कर दें।

loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!