fbpx

बैंगन के फायदे

बैंगन / भंटा  (Brinjal) इसका लैटिन में नाम सोलेनम मेलोनजीना Solanum melongena है। इसे एशिया, यूरोप, अफ्रीका के देशों में बहुत प्रयोग किया जाता है। बैंगन भारत का मूल निवासी है तथा इसे बहुत पुराने समय से भोजन की तरह प्रयोग किया जाता रहा है।

बैंगन के पौधे से प्राप्त फल को हम सब्जी की तरह खाते हैं। बैंगन एक सब्जी नहीं बल्कि फल है। बैंगन की कई प्रजातियाँ हैं जैसे की गोल, लम्बे, हरे, बैंगनी, सफ़ेद, छोटे, बड़े आदि। इसे भारत में भून कर भरते के तरह और रसेदार सब्जी की तरह पका कर खाया जाता है।

कई बार आपने लोगों को ये कहते सुना होगा कि बैंगन में कोई भी स्वास्थ्यवर्धक तत्व नहीं होता है और इसी वजह से वे इसे बे-गुण भी कहते हैं. पर आपको बता दें कि स्वास्थ्य के लिहाज से बैंगन एक बेहद फायदेमंद सब्जी है। अच्छी बात ये है कि अगर आप चाहें तो इस अपने घर में रखे गमले में भी उगा सकते हैं. वो भी बहुत आसानी से. बैंगन के फायदे हमेशा ही अनदेखे रहे हैं लेकिन जब आप इसके फायदे जानेंगे तो वाकई आश्चर्य में पड़ जाएंगे…

 बैंगन खाने के फायदे :

आम धारणा के अनुसार यह एक पौष्टिक सब्जी नहीं है। लेकिन यह बात सही है। बैंगन का सेवन शरीर को ज़रूरी पोषक तत्व प्रदान करता है। इसमें लोहा होता है जो एनीमिया को दूर करता है। यह लीवर / यकृत के लिए फायदेमंद है। मधुमेह, मोटापे और ह्रदय रोगियो के लिए वरदान है बैंगन इसके सेवन से कोलेस्ट्रोल का मेटाबोलिज्म होता है जिससे कोलेस्ट्रोल का स्तर कम होता है। इसमें फाइबर ज्यादा और कैलोरी कम होती है। इसलिए यह वज़न को कम करने में मदद करता है। बैंगन को खाने के बहुत से लाभ हैं। इनमें से कुछ लाभ नीचे दिए गए हैं।
बैंगन के फायदे :
1. इसमें कैल्शियम, आयरन, मैगनिशियम, पोटैशियम, सोडियम, नाइट्रोजन तथा अन्य बहुत से ज़रूरी माइक्रोनुट्रीएंट होते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए आवश्यक होते हैं।
2. इसका सेवन रक्त  परिसंचरण को अच्छा करता है और दिमाग को पोषकता देता है।
3. इसमें फाइबर होता हैं जो की कब्ज़ को दूर रखने में सहायक है। फाइबर पाचन तन्त्र के लिए बहुत ज़रूरी है।
4. इसमें कैलोरीज बहुत कम होती हैं, फैट नहीं होता, और फाइबर की अच्छी मात्रा होती है। इसलिए यह वज़न को नियंत्रित रखने में सहायक है।
5. यह मधुमेह में लाभकारी है। इसमें ग्लूकोस तथा लिपिड का लेवल बहुत कम होता है। यह HDL/LDL के रेशो को बढ़ाता है। यह अच्छे कोलेस्ट्रोल को बढ़ाता है और बुरे को कम करता है।
6. यह बढ़े हुए सीरम लिपिड लेवल, उच्च रक्तचाप और  हृदय रोगों में लाभकारी है।
7. इसमें, विशेषकर इसके छिलके में एंटीऑक्सीडेंट नेसुनिन पाया जाता है जो की शरीर की सेल्स को फ्री रेडीकल डैमेज से बचाता है। नेसुनिन ब्रेन सेल्स के फैट्स / लिपिड लेयर की रक्षा करता है।
8. इसमें जिंक Zinc होता है जो की प्रजनन स्वास्थ्य के लिए बहुत ज़रूरी है।
9. कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करने में बैंगन खाने से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम बना रहता है. बैंगन में पोटेशियम व मैंगनीशियम की अधिकता होती है जिसकी वजह से कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने नहीं पाता है।
10. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में बैंगन में विटामिन सी पाया जाता है. जो संक्रमण से दूर रखने में तो कारगर है ही साथ ही ये रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी काफी फायदेमंद है।
11. दांत दर्द में फायदेमंद बैंगन के रस का इस्तेमाल दांत दर्द में दर्द निरोधक की तरह काम करता है. इसके रस से दांतों के दर्द में आराम मिलता है. साथ ही इसकी जड़ का इस्तेमाल अस्थमा की रोकथाम में भी किया जाता है।
12. वजन कम करने में बैंगन कैलोरी जलाने का काम करता है. साथ ही ये फाइबर से युक्त होता है. बैंगन से बनी कुछ भी चीज खाने से भारीपन महसूस होता है. जिसकी वजह से शख्स कम खाना खाता है. ऐसे में वजन कम करने वालों के लिए ये एक अच्छा आहार है।
13. पोषक तत्वों का खजाना बैंगन में बहुत से ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो दूसरी किसी सब्जी में नहीं मिलते हैं. बैंगन को लेकर सबसे बड़ा फायदा ये हैं कि ये काफी आसानी से मिल जाने वाली सब्जी है।

Note : बैंगन क्योंकि गैस बनाता है इसलिए जिन्हें बहुत गैस बनने की समस्या हो वे इसका सावधानी से प्रयोग करें।

<link rel=”amphtml” href=”https://www.allayurvedic.org/2018/10/Bengan-ke-fayde.html/amp/”>

loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!