fbpx

सप्ताह के इन 2 दिनों में कटवाएँगे बाल और नाख़ून, बन जायेंगे बिगड़े काम, घर मे आयेगी बरकत

हर इंसान के जीवन में धन-दौलत की जरुरत होती है। अगर आज के समय की बात की जाए तो आज के समय में ऐसा कोई भी काम नहीं है जो बिना पैसे के किया जा सके। ऐसे में धन की क्या महत्ता है, यह बतानें की जरुरत नहीं है। व्यक्ति धनवान होगा या नहीं यह उसके ग्रहों नक्षत्रों के ऊपर भी निर्भर करता है। साथ ही कई ने कारण भी होते हैं। व्यक्ति किस दिन कौन सा काम करता है, उसके अनुसार भी ग्रह परिवर्तित होते रहते हैं।

जीवन पर पड़ता है ग्रह-नक्षत्रों का प्रभाव :

  • ग्रहों-नक्षत्रों का व्यक्ति के जीवन में बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है। अक्सर लोगों के बाल और नाख़ून बढ़ते हैं तो उन्हें वह काटते हैं। भारत में लोकमान्यता के अनुसार मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार के दिन लोग बाल और नाख़ून नहीं काटते हैं। ज्योतिष की बात की जाये तो उसके अनुसार या आदत सही होती है। कुछ ही लोग यह जानते हैं कि रविवार और सोमवार के दिन भी ज्योतिषशास्त्र बाल और नाख़ून काटने से माना करता है। आज हम आपको बताएँगे कि किस दिन बाल और नाख़ून काटने से आपके जीवन में खुशियाँ आती हैं।

बालों और नाखूनों से जुडी लोगों की कुछ आदतें :

  • रविवार के दिन काम करने वाले लगभग सभी लोगों की छुट्टी होती है। सप्ताह के इसी दिन वह अपने सभी काम करते हैं। ऐसे में वह अपने पुरे शरीर की ख़ास सफाई का ध्यान भी आज ही के दिन देते हैं और अपने बाल अवं नाख़ून भी आज ही काटते हैं। रविवार को सूर्यदेव का दिन माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि आज के दिन बाल और नाख़ून काटने से व्यक्ति की बुद्धि और धन का नाश होता है।
  • सोमवार के दिन को भगवान शिव का सीन कहा जाता है। साथ ही इस दिन पर चन्द्र देव का आधिपत्य भी होता है। ऐसा कहा जाता है कि सोमवार के दिन बाल और नाखूनों को कटवाना परेशानियों को खुला निमंत्रण देने जैसा है। अपने दिमाग को स्थिर रखने के लिए इस दिन बाल और नाखूनों को कटवाने से बच्चे।

किस दिन बाल और नाखून कटवाए :

  • ज्योतिषशास्त्र के अनुसार बुधवार और शुकवार के दिन बाल और नाख़ून कटवानें से घर में बरकत आती है। तिजोरी में रखा हुआ धन स्थिर रहता है और कारोबार में भी तरक्की होती है। माँ लक्ष्मी की कृपा से धन की वर्षा शुरू हो जाती है।
  • ऐसा माना जाता है कि मंगलवार, बृहस्पतिवार और शनिवार के दिन बाल सुरक्षा कवच के रूप में काम करते हैं, जिससे विशिष्ट किरणें मस्तिष्क को नुकसान नहीं पहुँचा पाती हैं। अगर इन दिनों बाल कटवाया जाए तो किरणों का बुरा प्रभाव सीधे मस्तिष्क पर पड़ता है। इसलिए इन तीन दिनों में बाल ना कटवाने का नियम है।
loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!