fbpx

12-15 दिन में आँखों का चश्मा उतारने तथा आँखों की रौशनी बढाने का अनुभवी घरेलु उपाय

हमारी आँखें शरीर का सबसे महत्वपूर्ण और आकर्षक अंग है | सुंदर आँखों का महत्व तब तक है जब तक आँखों की रौशनी अच्छी हो अन्यथा आपकी सुंदर आँखों पर मोटे नाटे चश्मे आपकी सुन्दरता को ग्रहण लगा देते है अथवा आपको लेंस लगाने की परेशानियों में पड़ना होगा |

आइये जानते है आँखों की रौशनी बढाने और चश्मा उतारने के लिए कौन कौन से देशी उपाय अपना सकते है |

१) नेति उपचार किसी योगप्रशिक्षक की सहायता से करने से आँखों की रौशनी बढती है और चश्मा उतर जाता है |

२) सुबह सो कर उठने के बाद मुंह की लार आँखों में काजल की तरह लगाओ अगर छोटे बच्चो को आँखों पर  चश्मे लगे है तो उन्हें इस उपाय से जल्दी लाभ मिलेगा लेकिन बड़ों को थोडा समय लग सकता है लेकिन फायदा जरुर होता है |

३) मुंह की लार कन्जक्टीवाइटिस जैसे रोग में लगाने से 24 घंटे में ही लाभ करती है |

४) मुहं की लार आँखों का भेंगापन दूर करने में भी सहायक है |

५) केसर की चाय नियमित पिने से आँखों की रौशनी बढती है और चश्मा उतर जाता है |

६) त्वचा रोगों में जैसे की सोरायसिस अथवा दाद -खुजली में भी मुहं की लार का प्रयोग कर सकते है |

७) देशी गाय का गौमुत्र एक एक बूँद प्रतिदिन आँखों में डालने से आँखों का चश्मा उतर जाता है |

८) देशी गाय का गौमूत्र प्रतिदिन आँखों में डालने से  मोतियाबिंद दूर होता है |

९) बादामगिरी , सोंफ बडिवाली और मिश्री को बराबर मात्रा में कूटपीसकर चुर्ण बना लें और किसी कांच के बर्तन में इसका संग्रह कर लें | अब प्रतिदिन रात्री  में सोने से पुर्व 10 ग्राम की मात्रा में देशी गाय के 250 ग्राम दूध के साथ 40 दिन तक लेने से आँखों की रौशनी बढती है और चश्मे की आवश्यकता नहीं पड़ती | छोटे बच्चो को मात्रा आधी कर के दें और इस चुर्ण का सेवन करने के बाद कम से कम २ घंटे कुच्छ भी खाना/पीना नहीं है | इस प्रयोग से मस्तिष्क की कमजोरी भी ठीक होती है |

श्री राजीव दीक्षित जी द्वारा बताई गई मुँह की लार का महत्व

मित्रो आज मैं आपको श्री राजीव दीक्षित जी द्वारा बताई गई मुँह की लार का महत्व बता रहा हूँ नीचे बताए गये  सभी उपाय रात्रि में सोने से पहले दातों को साफ करके सोएँ और फिर सुबह उठकर बीना कुल्ला किये बिना थूके प्रयोग करे। ये मुह की लार हमारे शरीर की सर्वोत्तम अमृत तुल्य औषिधि है। जो केसा भी चश्मा हो उसको उतारने का गुण रखती है केसा भी दाद हो उसको ठीक करने का गन रखती है, लार बाज़ार में नही मिलती यह सभी के मुँह में भगवान ने उपहार स्वरुप दी है। आइये जाने लार क्या क्या कर सकती है।

➡ लार के 5 महत्त्वपूर्ण फायदे :
1. यदि किसी भाई बहन के आखों 😵 के नीचे काले घेरे हो गये हैं । वो सुबह मे मुह की लार से मालिश करें धीरे धीरे, तो ये काले घेरे ठीक हो जायेंगे लेकिन प्रयोग 1-2 महीने करना पड़ेगा।
2. जिनको भी चाहे कितने भी नंबर के मोटे 👓😎  चश्मे लगे हो वे भाई बहन सुबह उठकर पानी का कुल्ला किये बिना जो लार रात भर में इकट्ठी हुई वो आखों में काजल या गुलाब जल की तरह लगानी है यह आप रात को सोते समय और  सुबह 5 बजे उठकर बेड पर लगाये ताकि मुँह 1-2 घंटे बाद धोये तो लार का अपना काम कर सके। यकीन मानिये यह प्रयोग अद्भुत चमत्कारिक है श्री राजीव भाई जी दीक्षित कहते है की कैसा भी चश्मा हो उतरने के सौ प्रतिशत आसार रहते है लेकिन आपको प्रयोग तब तक जारी रखना पड़ेगा जब तक आपके चश्मे का नंबर धीरे धीरे कम होकर शून्य हो जाये परिणाम सौ प्रतिशत  मिलेगा लेकिन कुछ वक़्त लगेगा और लार का कोई साइड इफ़ेक्ट नही है लार से तो आँखों की रौशनी (6/6) भी बढ़ती है।
3.  डायबिटीज 🍇 के रोगियों को जहाँ चोट लगी है वहां सुबह की लार लगाये घाव भरने लगेगा।
4. जिन लोगों के जलने 🔥 से शरीर के किसी भी भाग में कोई दाग हो और नही जा रहा हो वे इसी लार की मालिश करें दाग त्वचा के रंग का होने लगेगा।
5. जिन लोगों के दाद हो गये हैं वे भी इस लार को प्रतिदिन सुबह उठते ही बिना कुल्ला किये रात भर की इकट्ठी मूंह की लार लगाये दाद देखते ही देखते छूमंतर हो जायेगा।

➡ ऐसी कई बीमारी का इलाज है ये मुह की लार आइये जानते है मुँह की लार में होता क्या है?
मुँह की लार में टायलिन नामक एंजाइम होता है जो हमारी पाचन क्रिया को बढाता है और जो मित्र गुटखा खाते हैं या थूकते रहते हैं धीरे धीरे ये लार बनना बंद हो जाती है और मुँह के कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है। इस लार का PH मान 8.3 होता है। और आप ये सभी सुबह जो टूथपेस्ट करते हो वो करना बंद करे क्योकि इससे लार को हम थूक देते हैं।इसके स्थान पर नीम या बबूल की दातुन करे। ये दातुन करने से लार सर्वाधिक लार बनती है और जिससे दातुन किया उस भाग को काट कर निकाल दे और पानी मे भिगोकर रखें अगले दिन फिर उसी दातुन के अगले हिस्से को प्रयोग में ले सकते है।

अधिक जानकारी के लिए ये 👇👇👇 वीडियो देखें और हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करे।

➡ कृपया ध्यान दे : 
यह बहुमूल्य जानकारी समाजहित में पहुचाने में हमारी मदद करे आपका एक शेयर किसी जरूरतमंद के लिए वरदान हो सकता है। इसलिए शेयर करना ना भूले।
स्त्रोत : अमर बलिदानी श्री राजीव दीक्षित जी के व्याख्यानों से

loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!