fbpx

हार्ट अटैक से जुड़ी 3 झूठी बातें, ज़रूर जानिए इस सच्चाई को

आजकल हार्ट अटैक से मरने वाले लोगों की संख्या ज्यादा हो गयी है. यह समस्या किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है. इसका मुख्य कारण खान-पान में ध्यान न देना है, अनुपयुक्त खाद्य पदार्थ की सेवन करने से रक्त अशुद्ध होता है और जब इन्ही अशुद्धियाँ धमनी में जाकर अटकता है तो हार्ट से शरीर के अन्य हिस्से में रक्त प्रवाह रुक जाता है. इसे ही हार्ट अटैक कहते हैं।
ज्यादा चिंता या तनाव में रहने से भी हार्ट अटैक की समस्या हो सकती है। हार्ट अटैक से जुड़ी कई अफवाह फैली हुई है आइये जानते हैं इनकी सच्चाई के बारे में…

हार्ट अटैक से जुड़ी 3 झूठी बातें, जानिए सच्चाई

  1. हार्ट अटैक जवानी में नहीं आती : हार्ट जवानी में नहीं होती’ यह झूठी बात अधिकतर लोगों की मानना हैं. मगर सच्चाई यह है कि यह समस्या किसी भी उम्र के लोगों को हो सकती है. जरुरी नहीं कि ये अटैक उम्रदराज के लोगों में हो, कई बार दिनचर्या के किये जा रहे गलत एक्टिविटी के कारण किसी भी उम्र के लोगों को हार्ट हो सकती है।
  2. हार्ट अटैक आने पर सीने में ही दर्द होगा : कई लोग यही जानते हैं कि हार्ट अटैक आने पर केवल सीने में दर्द होगा, मगर जरुरी नहीं कि केवल सीने में ही दर्द होने पर यह समस्या हो. कई बार हार्ट अटैक आने से पहले दम घुटना, दायें कंधे में दर्द, दोनों हाथ में दर्द और उल्टी आने जैसी समस्या भी हो सकती है।
  3. दिल जोर-जोर से धड़क रहा है तो हार्ट अटैक होगा : जरुरी नहीं कि धड़कन का तेजी से धड़कना हार्ट अटैक की लक्षण हो. कई कारणों से दिल की धड़कन बढ़ जाती है. अरिदमियाज नामक बीमारी से भी दिल की धड़कने बढ़ जाती है।

ये तो रही हार्ट अटैक से जुड़ी 3 झूठी बातें, मगर फिर भी ऐसी कोई प्रॉब्लम आये तो तुरंत डॉक्टर से मिले और उनसे उचित सलाह लें और उपचार कराएं।

loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!