fbpx

आलू के रस से दोबारा बाल उगाने, काला करने का रामबाण उपाय, टेस्टेड और सफल तरीका, इसको अपनाएँ और लहराते बाल पाएँ

आजकल अधिकतर युवा बाल सफ़ेद होने व असमय गिरने की समस्या से परेशान हैं। इस समस्या के कारण बहुत से युवा समय से पहले ही ज्यादा उम्र के दिखने लगते हैं। पर क्या आप जानते हैं आपके किचन में मिलने वाली एक चीज़ से आप इस समस्या से छुटकारा पा सकते हैं और ये चीज़ है आलू का छिलका। जी हाँ दोस्तों चौकिये मत बालों में चमक के लिए, फिर से उगाने के लिए, झड़ते बालों को रोकने के लिए आलू या फिर इसका का छिलका (आप चाहे तो पूरा आलू छिलका युक्तले ससकते है) बहुत फायदेमंद है। आपको बता दें आलू में आयरन, जिंक, पोटेशियम और कैल्सीयम होता है। जिससे बालों का गिरना कम होता है और बाल बढ़ते हैं। आज हम आपके लिए लाये हैं एक ऐसा प्रयोग जिससे आप इस समस्या से उबर पाएंगे वो भी बड़ी आसानी से।

तो आइये जानते हैं ये उपाय विस्तार से :

  • सबसे पहले आप 6 आलू लें। इन्हें अच्छी तरह से धो लें और छील लें साथ ही छिलका अलग रख दें। आप पूरा आलू छिलका युक्त भी ले सकते है, ऐसी स्तिथी में आप केवर 2-3 आलू ले।
  • अब एक बर्तन में एक लीटर पानी लें। पानी को उबालने दें। अब इसमें आलू या आलू का छिलका डालें और 30 मिनट तक उबलने दें। इसके बाद जब पानी उबल जाये तो इसे 15 मिनट तक ठंडा होने के लिए छोड़ दें।
  • अब किसी जालीदार कपडे या छलनी से इस मिश्रण को छान लें और इसे एक साफ़ प्याले में ले लें। अब आलू के छिलके को फेंक दें और इस मिश्रण को कुछ घंटों के लिए हाइबरनेट होने के लिए छोड़ दें। अगर ये मिश्रण अधिक गाढ़ा हो जाये तो इसमें थोडा पानी मिला लें या इसकी पोषकता बढाने के लिए आप इसमें अपनी पसंद का आवश्यक तेल भी मिला सकते हैं।
  • अब अपने बालों को पहले क्लीनजर से अच्छी तरह साफ़ कर लें। अब थोड़ी रुई लेकर उसको मिश्रण में भिगोयें और आराम से पूरे सिर में लगायें। ध्यान रहे इस मिश्रण से पूरी खोपड़ी व बाल भीगने चाहिए।
  • अब अपने बालों को 5 मिनट तक मसाज करें और 30 मिनट तक ऐसे ही छोड़ दें। बाद में इसे ठन्डे पानी से धो लें। इसके बाद ध्यान रखें जब बाल पूर्ण रूप से सूख जाएँ तब ही उनको कंघी करें। यह प्रयोग सप्ताह में कम से कम 2 बार करे, इसका परिणाम आपको एक महीने में महसूस होने लगेगा।
loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!