fbpx

चाहे हाथो का दर्द हो या पैरों का दवाई लेना भूल जाओगे अगर अपने हाथो के इस बिंदु को सिर्फ़ 5 मिनट तक दबाया तो

Pic-I

अक्सर हाथ पैर में दर्द होने पर लोग पेन किलर दवा खा लेते हैं। इस दवा से दर्द से तो आराम मिलता है लेकिन ध्यान रखना चाहिए कि पेन किलर के ज़्यादा प्रयोग से किडनी पर ख़राब असर पड़ता है। इस आलेख में आप ऐसे घरेलू और देशी नुस्खे पढ़ेंगे जिनसे हाथ पैर में दर्द, सूजन, जलन और सुन्न होने का इलाज संभव है।

हाथ का दर्द किसी भी कारण से हो सकता है जैसे- हाथ में चोट लगने से, हाथ दब जाने से, हाथ के मुड़ जाने से या हाथ में झटका लग जाने आदि से। इसके अलावा पुराने रियूमेटाइड आर्थराइटिस की स्थिति में भी हाथ में दर्द हो सकता है।

हाथ-पैर में दर्द का कारण :

पैरों में दर्द उंगलियों, तलवों और टखने या पिंडियों पर किसी भी जगह हो सकता है और इस दर्द के कई कारण हो सकते हैं।

  • उम्र का बढ़ना
  • ज़्यादा देर तक चलना और घूमना-फिरना
  • लम्बे समय तक खड़े रहकर काम करना
  • शरीर में पोषक तत्वों की कमी
  • शुगर यानि डायबिटीज रोग होना या अन्य स्वास्थ्य समस्या होना
  • खिलाड़ियों और जिम में कसरत करने वालों को भी दर्द होता है

सर्वाइकल प्रॉब्लम होने से भी गर्दन, हाथों और कंधों में दर्द और सुन्न होना जैसी शिकायत होती है। ( स्लिप ) डिस्क प्रॉब्लम से कुल्हों और पैरों में दर्द होने लगता है जिससे उठते बैठने और चलने में काफी परेशानी होती है। सर्वाइकल और डिस्क रीढ़ की हड्डी के वो जुड़े हुए भाग होते हैं, जिनमें नस दबने से दर्द होने लगता है। अगर इस तरह का दर्द और परेशानी महसूस हो तो डॉक्टर से कंस्लट करें।

हाथ का दर्द किसी भी कारण से हो सकता है जैसे- हाथ में चोट लगने से, हाथ दब जाने से, हाथ के मुड़ जाने से या हाथ में झटका लग जाने आदि से।
Pic-II

एक्यूप्रेशर चिकित्सा – 

ऊपर चित्र Pic-I और Pic-II में दिए गए प्रतिबिम्ब बिन्दुओं LI-4 के अनुसार रोगी के शरीर पर 30 सेकंड तक दबाव देकर छोड़े फिर पुनः यह प्रक्रिया 3-5 मिनट तक करे। इस एक्यूप्रेशर चिकित्सा द्वारा हाथ-पैर का दर्द ठीक किया जा सकता है।

हाथ पैर में दर्द का घरेलु उपाय  :

1. लौंग का तेल

शरीर में कभी जोड़ों का दर्द हो या फिर दांत का दर्द हो तो लौंग के तेल मालिश करने से मांसपेशियां को आराम मिलता है और दर्द से राहत मिलती है।

2. गरम और ठंडा पानी

1 बड़े बर्तन में ठंडा पानी भरे और एक बर्तन में गुनगुना पानी। अब अपने पैरों को 2 से 3 मिनट के लिए गुनगुने पानी में डालकर रखें और उसके बाद 10 से 15 सेकेंड के लिए ठंडे पानी में डालें। इस क्रिया को 2 से 3 बात करें और इसकी शुरुआत हमेशा गुनगुने पानी से करें और खत्म ठंडे पानी से करें। इस क्रिया को कोल्ड और हॉट वाटर थेरेपी के नाम से जाना जाता है, जो हाथ पैर में दर्द होने पर कारगर घरेलू उपाय है।

3. आइस थेरेपी (बर्फ से सिंकाई)

– दर्द और सूजन का इलाज आइस थेरेपी से भी होता है। एक प्लास्टिक के बैग में बर्फ़ भरकर दर्द वाली जगह पर मसाज करें। इस उपाय को 10 मिनट तक ही प्रयोग करे6।

– पैर की नसों में सूजन दूर करने के लिए बर्फ से सिंकाई करने पर सूजन उतर जाती है।

4. सेंधा नमक

हाथ पैर में दर्द होने पर एक बाल्टी सहनीय गरम पानी भरकर उसमें 2-3 चम्मच सेंधा नमक मिलाएं और इस पानी में 10 पानी पैर डालकर बैठें।

5. सरसों के दाने

एक बाल्टी या किसी बड़े बर्तन में सहनीय गरम पानी में सरसों के दाने पीसकर डालें। इस पानी से 10-15 मिनट तक अपने हाथ पैर की सिंकाई करें। इस उपाय से रक्त संचार सुचारू होता है और धीरे-धीरे सूजन और दर्द खत्म हो जाती है।

loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!