fbpx

10 ऐसे देसी नुस्खे जो आपको पता ही होने चाहिए, जरूर पढ़े और शेयर करना ना भूले

  • याद है वो दिन जब ज़बरदस्त गला खराब होने पर माँ देर तक खौलाई हुई अद्रक की चाय बना के ले आती थीं? बस थोड़ी ही देर में गले को आराम मिल जाता और माँ को ‘एक कप चाय और’ का ऑर्डर. भारतीय रसोई किसी फार्मेसी से कम नहीं. यहां आपको हर मर्ज़ की दवा मिल जाएगी. बस थोड़ी सी जानकारी होनी चाहिए. तो जानिए कुछ ऐसे नुस्खे जो आपकी दादी-नानी के समय से मशहूर हैं, और रहेंगे…
  1. गर्म दूध और हल्दी : हल्दी एक मसाला ही नहीं, बल्कि इसमें कई औषधीय गुण भी हैं। सौंदर्य से ले कर त्वचा, पेट और सर्दी आदि के लिए भी हल्दी उपयोगी होती है। चोट-चपेट, दर्द या सर्दी जुखाम में बस एक कप गर्म दूध में दो-तीन चुटकी हल्दी मिलाकर पीने से आराम मिलता है.
  2. अजवाइन और नमक : नमक-अजवाइन के पराठे तो सबको अच्छे लगते हैं लेकिन जब पेट खराब या बदहज़मी हो, तो बस आधा चम्मच अजवाइन एक चुटकी नमक के साथ फांके और बदहज़मी हटायें.
  3. तुलसी और काली मिर्च : तुलसी ज़्यादातर सबके घरों में पाई जाती है, क्योंकि ये सिर्फ़ पूजी ही नहीं जाती, बीमारियों से भी बचाती है. 10-15 तुलसी के पत्ते और 8-10 काली मिर्च के दानों की चाय बनाकर पीने से खांसी, सर्दी और बुखार में आराम मिलता है.
  4. अद्रक की चाय : एक कहावत है, “बंदर क्या जाने अद्रक का स्वाद” क्योंकि अद्रक कड़वी जो होती है. लेकिन जिसको ये स्वाद अच्छा लग गया, सेहत उसी की है. अद्रक न सिर्फ़ चाय का स्वाद बढ़ाती है, बल्कि सर्दी जुखाम से भी बचाती है. अद्रक की चाय माइग्रेन में भी लाभकारी होती है. www.allayurvedic.org
  5. कच्चे बादाम : बादाम सिर्फ़ हलुए में ही नहीं, सेहत के लिए भी अच्छे हैं. गर्मी में रातभर भिगोकर और छिलका निकालकर खाना चाहिए और सर्दियों में ऐसे ही. ये आंखों की रोशनी बढ़ाते हैं, याददाश्त बढ़ते हैं और शरीर में गर्मी भी लाते हैं.
  6. सरसों का तेल : साग तो सरसों के तेल में ही अच्छा लगता है. लेकिन ये एक ऐसा गुणकारी तेल है जो ज़रा सा गर्म कर के जोड़ों में लगाया जाए तो दर्द में आराम मिलता है, सर्दी से राहत मिलती है और खुश्की भी ख़त्म होती है.
  7. एक कटोरी दही : दूध और दही भारतीय रसोई में ढेरों तरह से इस्तेमाल होते हैं. अगर बालों में रूसी हो, तो बस दही हल्के हाथों से बालों में लगायें. रूसी होगी गायब और बालों में आएगी चमक और जान.
  8. एक चम्मच चीनी : चीनी सिर्फ़ चाय और दूध में मिठास के लिए नहीं बल्कि दवा के रूप में भी इस्तेमाल होती है. जब हिचकी आए और आप परेशान हो जायें तो बस एक चम्मच चीनी मुँह में डालें और धीरे-धीरे चबाएं. इससे आपको जल्द ही राहत मिलेगी.
  9. नींबू और शहद : ये है एक ज़बरदस्त नुस्ख़ा वज़न कम करने के लिए. अगर आप अपना वज़न कम करना चाहते हैं तो बस एक ग्लास गर्म पानी में 1 नींबू का रस और 2 चम्मच शहद मिलाकर पिएं और मोटापे को कम करें. www.allayurvedic.org
  10. पका केला : केला न सिर्फ़ पेट भरने के लिए अच्छा फल साबित होता है, बल्कि कई देसी नुस्खों में भी आज़माया जाता है. दस्त में बस एक केला आराम देता और कॉन्स्टिपेशन में 2-3 केले असर दिखाते हैं. इसके अलावा पका केला जलने में आराम देता है और सौंदर्य के लिए फेस मास्क के तौर पर भी लगाया जाता है.
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!