fbpx

क्या आपको पता है ? अनार के बीज के ये अद्भुत फायदे

★ अनार बीज के अद्भुत फायदे जान जाओगे तो इनको कभी नही फेकोंगे ★

Share on Whatsapp : Click here

अनार के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ है। ये विटामिन का बहुत अच्छा स्रोत है और इसमें विटामिन ए, सी और ई के साथ फोलिक एसिड भी होता है। साथ ही अनार एंटी-आक्सीडेंट, एंटी वायरल के गुण भी होते हैं। लेकिन अनार में मौजूद बीजों को कुछ लोग खाने की बजाय बाहर निकालकर फेंक देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अनार के बीज में भरपूर मात्रा में फाइबर मौजूद होता है जो वजन घटाने मे काफी फायदेमंद होते हैं। साथ ही अनार के बीज में कैंसर और ट्यूमर से लड़ने की शक्ति भी होती है। आइए जानें कि आखिर हमें अनार के बीज क्यों खाने चाहिए।
www.allayurvedic.org

• इम्यूनिटी मजबूत करे : 
बीमारी को रोकने के लिए, विटामिन सी आपके शरीर के लिए आवश्यक विटामिनों में से एक है। लेकिन माना जाता है कि खट्टे फलों में विटामिन सी अधिक मात्रा में पाया जाता है। और बहुत अधिक खट्टे फलों को नापसंद करने वाले लोगों के लिए अनार बहुत फायदेमंद होता है। एक अनार के अंदर दैनिक जरूरत के हिसाब से लगभग 40 प्रतिशत विटामिन सी होता है।
• हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाये :
अनार के बीज में मौजूद फिटोकेमिकल शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को विनियमित करने और अच्छे फैट की आपूर्ति में मदद करता है। जिससे दिल के रोकथाम में सहायता मिलने के साथ-साथ हाई बीपी, अथेरोस्क्लेरोसिस और अन्य कार्डियोवैस्कुलर रोगों की रोकथाम में सहायता मिलती है।
• कैंसर से करे बचाव :
डीएनए की क्षति कोशिका चक्र में रुकावट पैदा कर कैंसर के विकास को बढ़ावा देती है। लेकिन अनार के बीज में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट में इस तरह के नुकसान के खिलाफ कोशिकाओं की रक्षा करने की क्षमता होती है। इस तरह से अनार के बीज ब्रेस्ट, कोलान, प्रोस्टेट ल्यूकेमिया और ट्यूमर को रोकने और इलाज में फायदेमंद होता है।
www.allayurvedic.org
• वजन कम करने में मददगार :
अगर आप अपने बढ़ते वजन से परेशान है तो अनार के बीज के इस्तेमाल से आपकी यह समस्या दूर हो सकती है। अनार के बीज भी अन्य फाइबर युक्त आहार की तरह वजन घटाने में आपकी सहायता करते हैं। अनार के बीज में उपलब्ध फ्लेवोनॉयड्स कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है। जिसके परिणास्वरूप बुरे वसा कोशिकाओं का संचय कम होता है और शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम होती है।
• विटामिन ‘सी’ और ‘के’ से भरपूर :
अनार के बीज में दो आवश्यक विटामिन के और सी का बहुत अच्छा स्रोत है। 100 ग्राम बीज में दैनिक जरूरत के हिसाब से लगभग 10.2 मिलीग्राम विटामिन सी होता है। और विटामिन के थोड़ा सा अधिक यानी 16 मिलीग्राम होता है। विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली, घाव को भरने, स्वस्थ मसूड़ों और कोलेजन और इलास्टिन के निर्माण में मदद करता है। साथ ही विटामिन सी आयरन के अवशोषण को बढ़ाने में भी मदद करता है। और विटामिन के मजबूत और स्वस्थ हड्डियों और रक्त के थक्के को बनाये रखने में महत्वपूर्ण होता है।
• मांसपेशियों में दर्द और सूजन दूर करे :
अनार के बीज में एकत्रित फैटी प्यूनिसिक एसिड शरीर में सूजन के खिलाफ शरीर को लचीला बनाता है। इससे मांसपेशियों में दर्द को कम करने और सूजन को कम करने में मदद मिलती है।
अनार के बीज में मौजूद फीटोएस्ट्रोजन हार्मोंनल अंसतुलन से बचने और इलाज के लिए मददगार होता है। और इसमें विटामिन बी, सी और मिनरल की मौजूदगी शरी की प्ररिक्षा प्रणाली के विकास और मजबूती में बहुत मददगार होती है।
www.allayurvedic.org
• अनार के बीज का इस्तेमाल
अनार के बीज का इस्तेमाल आप अपने मसालों में कर सकते हैं। भारतीय खाने में अनार के बीज का प्रयोग खाने में खट्टापन प्रदान करने के लिए किया जाता है, जिसका प्रयोग इमली, कोकम या अमचूर की तरह किया जाता है। इनके खट्टे मीठे स्वाद के साथ, यह सब्जियों, छोले, दाल तड़का और आलू अनार के बीज जैसे व्यंजनों में किया जाता है।

loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!