fbpx

इस पत्ते का रस कैंसर क्या डेंगू और मलेरिया सहित इन 7 रोगों में अचूक औषधि है

वरदान है पपीते के पत्ते का रस क्योंकि इसमे है 5 विटामिन का भरपूर मिश्रण :
हमारे आसपास कितने ही औषधीय गुणों से भरपूर पेड़-पौधे हैं पर हम इन नियामत भरी चीजों को नहीं जान पाते और जिन्हें हम जान पाए उनका उपयोग करने में कोताही बतरते हैं. इन्हीं में पपीते के पत्ते भी आते हैं जिनके औषधीय गुणों से कई लोग अंजान हैं. इन औषधीय पौधे के उपयोग से आपके शरीर के जितने भी रोग हैं इसके पत्तों के रस के इस्तेमाल से दूर हो सकते हैं. पपीते के पत्ते खाने में कड़वे लगते हैं लेकिन उनमें कमाल के गुण छुपे हुए होते हैं. पपीते के पत्तों में विटामिन ‘‘ए’,‘‘बी’,‘‘सी’,‘‘डी’ और ‘‘ई’ पाया जाता है साथ ही इसमें कैल्शियम भी पाया जाता है. पपीता और मेथी के पत्तों को अपनी सेहत के प्रति चिंतित रहने वाले लोग काफी इस्तेमाल करने लगे हैं. इसके प्रयोग से घातक रोग जैसे कैंसर, दिल की बीमारी, डेंगू, ब्लड शुगर तथा आंतों में बसे परजीवियों को नष्ट करने में सफलता मिलती है. यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है. पपीते की ताजी और छोटी पत्तियां शरीर से डेंगू के विषैले जहर को निकालने मे मदद करती हैं. पपीते की ताजी पत्तियों को पीस कर उसके रस को रोगी को पिलाने से प्लेटलेट्स बढ़ने शुरू हो जाते हैं. पपीते की पत्तियों का जूस अन्य फलों के जूस के साथ मिला कर रोगी को दे सकते हैं।

पपीते के पत्ते का जूस इन 7 रोगों में फायदेमंद :

  1. मुंहासे दूर करे : अगर चेहरे पर मुंहासे हैं तो सूखी पपीते की पत्ती ले कर उसे थोड़े से पानी के साथ मिक्स कर के पेस्ट बना लें. फिर इस पेस्ट को चेहरे पर लगा कर सुखा लें और फिर पानी से धो लें।
  2. कैंसर होने से रोके : इसमें कैंसर विरोधी गुण होते हैं जो कि इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं और सवाईकल कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, अग्नाशय, जिगर और फेफड़ों के कैंसर को होने से रोकते हैं।
  3. बैक्टीरिया की ग्रोथ रोके : पपीते की पत्तियों में 50 एक्टिव सामग्रियां होती हैं जो कि सूक्ष्मजीवों जैसे फंगस, कीड़े, परजीवी और कैंसर कोशिकाओं के विभिन्न अन्य रूपों को बढ़ने से रोकती हैं।
  4. इम्यूनिटी बढ़ाए : इन पत्तियों में सर्दी और जुखाम जैसे रोगों से लड़ने की शक्ति होती है. यह खून में व्हाइट ब्लड सेल्स और प्लेटलेट्स को विकास बढ़ा देती है।
  5. एंटी मलेरिया गुण : यह मलेरिया से लड़ने में प्रभावकारी है. पपीते की पत्तियों का रस मलेरिया के लक्षणों को बढ़ने से रोकता है।
  6. डेंगू में रामबाण : डेंगू से लड़ने के लिए पपीते की पत्तियां काफी लाभकारी है. यह गिरते हुए प्लेटलेट को बढ़ाने, खून के थक्के जमने तथा जिगर की क्षति को रोकती है, जो कि डेंगू वायरस के कारण हो जाता है।
  7. माहवारी के दर्द से छुटकारा : दर्द को दूर करने के लिए एक काढ़ा बनाइए जिसमें एक पपीते की पत्ती को इमली, नमक और एक गिलास पानी के साथ मिक्स कीजिए. फिर इसे उबालिए और जब काढ़ा बन कर ठंडा हो जाए तब इसे पी लीजिए, इससे आपको आराम मिलेगा।
Loading...
Share:

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!