Categories

थोड़ा सा नमक एक कपडे में डालकर चुपचाप रखे यहां, अगली सुबह देखे चमत्कार


  • नमक जिसे सोडियम भी कहते है शरीर के लिए छोटी मात्रा में जरूरी है लेकिन अधिक सेवन करने पर गंभीर, दीर्घकालिक स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बन सकता है. उच्च स्तर के नमक की खपत में कई नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभाव हो सकते हैं, जैसे रक्तचाप और हृदय संबंधी जटिलताओं फिर भी विशेषज्ञों के अनुसार मध्यम मात्रा में नमक जो स्वास्थ्य की सिफारिशों को पूरा करता हैं. कुछ स्वास्थ्य लाभ हैं, जैसे कि शरीर को ठीक से कार्य करना. रोज़ाना उपभोग करने वाले खाने में नमक की मात्रा भिन्न होती है।
  • नमक केवल  खाने के स्वाद को बढ़ाने में नहीं बल्कि कई कामो में नमक का इस्तेमाल किया जाता है नमक खाने में  उपयोग में आने वाली सबसे पुरानी चीज है. इसे दुनिया भर में काम लिया जाता है। दुनिया भर में लगभग 200 मिलियन टन का उत्पादन होता है जिसमे से खाने के लिए सिर्फ 6 % नमक काम आता है. खाने के अलावा नमक का उपयोग जहाँ ज्यादा बर्फ गिरती है वहाँ हाईवे से बर्फ हटाने में होता है. इसके अलावा वाटर कंडीशनिंग आदि  में भी नमक का बहुत उपयोग होता है।
  • अब तक तो आपने सिर्फ खाने में ही नमक का इस्तेमाल किया है, मगर क्या आपको पता है कि यह किचन में मिलने वाला नमक आपको धनवान भी बना सकता है। हो सकता है आपको ये अंधविश्वास की बात लगें, लेकिन ज्योतिष और वास्तु शास्त्र में घर की सुख-समद्धि व अन्य कई समस्याओं के लिए नमक से जुड़े ये उपाय बताए गए हैं।

कैसे करता है ये काम ?

  1. नकारात्मक ऊर्जा करे दूर
    सप्ताह में एक बार गुरुवार को छोड़कर पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा साबुत खड़ा नमक (समुद्री नमक) मिला लेना चाहिए। इस उपाय से घर की नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।
  2. धन प्राप्ति के लिए
    नमक को कांच के पात्र में रखें और उसमें चार-पांच लौंग डाल दें। इससे घर में धन आना शुरू हो जाता है साथ ही बरकत भी बनी रहती है।
  3. बाथरूम और टॉयलेट को करे दोष मुक्त
    एक कांच की कटोरी में खड़ा नमक (समुद्री नमक) भरें और इस कटोरी को बाथरूम में रखें। इस उपाय से भी नकारात्मक ऊर्जा दूर हो सकती। टॉयलेट में कांच के बाऊल में क्रिस्टल साल्ट (दरदरा नमक) भर कर रखें, 15 दिन बाद बदल दें।
  4. वास्तुदोष करे दूर
    मिला-जुला वास्तुदोष हो तो जिसे आप बदल नहीं सकते। इसके लिए आप साबुत नमक भर कर कुछ देर रखे रहें, फिर वॉशबेसिन में डालकर पानी से बहा दें। नमक इधर-उधर न फेंके। इससे वास्तुदोष दूर होता है।
  5. नजर उतारने के लिए
    यदि आपको या किसी बच्चे को किसी की नजर लग गई है तो सात बार एक चुटकी नमक उस पर से उतारकर उसे बहते पानी में बहा दें। नल खोलें और उसे नल के बहते पानी में डाल दें। इससे नजर दोष दूर हो जाएगा।
  6. शनि का दुष्प्रभाव करे कम
    यदि भोजन करते समय आपको दाल या सब्जी आदि में नमक कम लगे तो उपर से नमक न डालें। ऐसे में काला नमक तथा मिर्च कम होने पर काली मिर्च का प्रयोग करें। यदि आप ऐसे नहीं करेंगे तो इससे शनि का दुष्प्रभाव शुरू हो जाएगा।
  7. रोग से मुक्ति हेतु
    सोते समय अपना सिरहाना पूर्व की ओर रखें। अपने सोने के कमरे में एक कटोरी में सेंधा नमक के कुछ टुकडे रखें। इससे आपकी सेहत ठीक रहेगी।
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch