Categories

This Website is protected by DMCA.com

ज्यादा यूरिक एसिड देता है 4 बड़ी बीमारियों को न्यौता



  • आजकल के हमारे इस गलत खान पान के कारण हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। जिसके कारण हमारे शरीर में कई बीमारियां होने का खतरा बना रहता है। खून में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाने पर हमारे शरीर के घुटनों और एडियों व पैरों और उंगलियों में दर्द होना शुरू हो जाता है। एक शोध में बताया गया है कि यूरिक एसिड अगर हमारे शरीर में ज्यादा हो जाता है तो इससे गठिया और किडनी की समस्याएं होने लगती है। इसलिए हमें हमारे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रण में रखना चाहिए।
  • हमारे शरीर में यूरिक एसिड प्‍यूरिन के टूटने से बनता है। यह ब्‍लड के माध्‍यम से बहता हुआ किडनी तक पहुंचता है। वैसे तो यूरिक एसिड यूरीन के रूप में शरीर के बाहर निकल जाता है। लेकिन, कभी-कभी यह शरीर में ही रह जाता है और इसकी मात्रा बढ़ने लगती है। यह परिस्थिति शरीर के लिए परेशानी का सबब बन सकता है। यूरिक एसिड की उच्‍च मात्रा के कारण गठिया जैसी समस्‍याएं पीड़ि‍त हो सकते है। इसलिए यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रित करना आवश्‍यक होता है। अब सवाल यह है कि प्राकृतिक रूप से यूरिक एसिड को कैसे कम किया जाये। तो समाधान के रूप में यहां कुछ प्राकृतिक उपाय दिये गये है। आज हम आपको यहाँ बताने जा रहे है की अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो जाती है तो उससे हमारे शरीर में कौन कौन की बीमारियां होने का खतरा बना रहता है।
यूरिक एसिड से होती है यह 4 बड़ी बीमारियाँ 
  1. गठिया : अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है यानी ज्यादा हो जाती है तो इससे हमारे शरीर में गठिया होने का खतरा बना रहता है। इसलिए हमें अपने शरीर में यूरिक एसिड को नियंत्रण में रखना चाहिए।
  2. दिल के रोग : यूरिक एसिड के शरीर में बढ़ जाने के कारण हमारे दिल को मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है। ऐसा होने से हमारे शरीर में दिल के रोग होने लगते है। इसलिए हमें अपने शरीर में यूरिक एसिड को नियंत्रण में रखना चाहिए।
  3. डायबिटीज़ : अगर आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इससे हमारे शरीर में डायबिटीज़ भी हो सकती है।
  4. उच्च रक्तचाप : आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो इससे हमारे शरीर में रक्तचाप बढ़ने लगता है।

यूरिक एसिड के लिए इन बातों का ध्यान ज़रूर रखे 
  1. आहार का समायोजन : शरीर में यूरिक एसिड के स्‍तर को नियंत्रित करने के लिए प्‍यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थो के सेवन से बचना चाहिए। प्‍यूरिन एक प्राकृतिक पदार्थ है जो आपके शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। किडनी की समस्‍या होने पर प्‍यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ शरीर के विभिन्‍न भागों में अत्‍यधिक यूरिक एसिड का संचय करते है।  रेड मीट, समुद्री भोजन, ऑर्गन मीट और कुछ प्रकार के सेम सभी प्‍यूरिन से भरपूर होते हैं। परिष्कृत कार्बोहाइड्रेट और सब्जियां जैसे शतावरी, मटर, मशरूम और गोभी से बचना चाहिए।
  2. फ्रक्टोज से बचें : प्राकृतिक रूप से यूरिक एसिड को कम करने के लिए आपको फ्रक्टोज से भरपूर पेय का सेवन सीमित कर देना चाहिए। 2010 में किए गए एक शोध से यह बात समाने आई है कि जो लोग ज्‍यादा मात्रा में फ्रक्‍टोस वाले पेय का सेवन करते हैं उनमें गठिया होने का खतरा दोगुना अधिक होता है।
  3. शराब का कम सेवन : शराब आपके शरीर को डिहाइड्रेट कर देता है, इसलिए प्‍यूरिन से उच्‍च खाद्य पदार्थों के शराब की बड़ी मात्रा को लेने से बचना चाहिए। बीयर में यीस्‍ट भरपूर होता है, इसलिए इसके सेवन से दूर रहना चाहिये। हालांकि वाइन यूरिक एसिड के स्‍तर को प्रभावित नहीं करती है।
  4. सूजन को कम करें : शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा कम करने के लिए आपको अपने आहार में बदलाव करना चाहिये। आपको अपने आहार में चेरी, ब्‍लूबेरी और स्ट्रॉबेरी को शमिल करना चाहिये। यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड मेडिकल सेंटर ने इस सलाह का कहना है कि सूजन को कम करने के लिए आपको इन बैरीज का सेवन करना चाहिये। 
  5. शारीरिक वजन का प्रबंध करना : अगर आप मोटे हैं तो प्‍यूरिन से भरपूर खाद्य पदार्थ आपके यूरिक एसिड के स्‍तर को बढ़ा सकता है। लेकिन, यह तेजी से वजन घटाने के लिए एक कारक भी है। इसलिए आपको सभी मामलों में क्रैश डाइटिंग से बचना चाहिए। अगर आप मोटापे से ग्रस्त हैं, तो यूरिक एसिड के स्तर में वृद्धि को रोकने के लिए अपने वजन को नियंत्रित करना चाहिए।

यूरिक एसिड को कम करने के घरेलु उपाय 

  1. नींबू : नींबू पानी यूरिक एसिड के कारण होने वाली गठिया की समस्‍या और शरीर के अंदर कैल्शियम कार्बोंनेट के गठन को प्रेरक करने वाली भड़काऊ प्रतिक्रिया को रोकने में मदद करता है। कैल्शियम कार्बोंनेट ब्‍लड में एसिड को कम करने में मदद करता है। साथ ही ताजा नींबू पानी विटामिन सी का बहुत अच्‍छा स्रोत है जो जोड़ों के आस-पास संयोजी ऊतकों को मजबूत और तेज यूरिक एसिड क्रिस्‍टल से होने वाले नुकसान को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, नींबू में मौजूद सिट्रिक एसिड क्रिस्‍टल के लिए विलायक का काम करता है और इनको खत्‍म करके सीरम यूरिक एसिड स्‍तर को कम करता है।
  2. अनानास : यूरिक एसिड को कम करने में कुछ अन्य खाद्य पदार्थ भी मददगार होते हैं। जैसे अनानास में मौजूद पाचक एंजाइम ब्रोमेलाइन में एंटी इफ्लेमेंटरी तत्‍व होता है जो सूजन को कम करता है। 
  3. अजवाइन : अजवाइन यूरिक एसिड को कम करने के लिए एक और प्रभावी तरीका है क्‍योंकि यह प्राकृतिक मूत्रवर्धक है। यह रक्त में क्षार के स्‍तर को नियंत्रित कर सूजन को कम करने में मदद करती है।
  4. ज़ैतून का तेल : अधिकांश वेजिटेबल ऑयल गर्म या संसाधित होने पर बासी फैट में बदल जाते हैं। और बासी फैट शरीर में महत्‍वपूर्ण विटामिन ई को नष्‍ट कर देता है, जो यूरिक एसिड के स्‍तर को नियंत्रित करने के लिए आवश्‍यक होता है। इसलिए वेजिटेबल ऑयल के स्‍थान पर ज़ैतून का तेल या ऑलिव ऑयल का इस्‍तेमाल करें। ज़ैतून का तेल या ऑलिव ऑयल में मोनोअनसचुरेटेड फैट गर्म करने के बाद भी मौजूद रहे है। इसके अलावा, ऑलिव ऑयल में विटामिन ई, एंटीऑक्‍सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेंटरी गुण भी होते हैं।
  5. लहसुन : छोटी-छोटी लहसुन लें और इसे पानी के साथ मिलाकर सुबह पीने से आपका शरीर का कोलेस्ट्रॉल भी कम होता है और शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा भी कम हो जाती है और यह आपके शरीर को डिटॉक्स भी करती है लेकिन इसे काट कर ना खाएं इसे आप कैप्सूल की तरह ही लें हरी प्याज का सेवन करें क्योंकि यह आपके शरीर में प्रोटीन को बढ़ाता और मेटाबॉलिज्म को भी बढ़ाता है। यूरिक एसिड कम करने के घरेलू उपचार से आप पूरी तरह रोग मुक्त हो जायेंगे।
  6. काला नमक और निम्बू : कई देश ऐसी चाइना जापान कोरिया इन जगहों पर सुशील को अधिक लिया जाता है क्योंकि यह बहुत ही पौष्टिक तत्व से भरपूर होते हैं और एक नींबू को ले और नींबू को तवे पर 3 किलो और इसे सीखने के बाद इसमें काला नमक मिलाकर इसे चूसे लेकिन इसे इतना गर्म ना करें कि यह जल जाए ऐसे भी आपका जो पड़ा हुआ यह कैसे कम हो जाएगा बढ़ा हुआ यूरिक एसिड कम हो जाएगा इन घरेलू उपायों को करके आप अपने शरीर में पड़े हुए यूरिक एसिड को कम कर सकते हैं बढ़े हुए यूरिक एसिड को कम कर सकते हैं बड़े बड़े हुए यूरिक एसिड को कम कर सकते हैं।
  7. पानी की पर्याप्‍त मात्रा : शरीर को हाइड्रेटेड रखकर आप यूरिक एसिड के स्‍तर को कम कर सकते है। शरीर में पानी का उचित स्‍तर सिस्टम से यूरिक एसिड को बाहर निकालने के लिए जरूरी होता है। पानी की पर्याप्‍त मात्रा से शरीर में मौजूद यूरिक एसिड यूरीन के रास्ते से बाहर निकल जाता है। इसलिए थोड़ी-थोड़ी देर में पानी पीते रहना चाहिए।
  8. सेब और सेब साइडर सिरका : शरीर में एसिड के उच्‍च स्‍तर को एसिडोसिस के रूप में जाना जाता है। यह शरीर के यूरिक एसिड के स्तर के साथ संबंधित होता है। अगर आपका पीएच स्तर 7 से नीचे चला जाता है, तो आपका शरीर अम्लीय हो जाता है। अपने शरीर क्षारीय को बनाये रखने के लिए, अपने आहार में सेब, सेब साइडर सिरका, चेरी का जूस, बेकिंग सोडा और नींबू को शामिल करें। 
  9. बेकिंग सोडा का सेवन : एक गिलास पानी में आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा मिला लें। इसे अच्‍छे से मिक्‍स करके नियमित रूप से इसके आठ गिलास पीये। यह बेकिंग सोडा का मिश्रण यूरिक एसिड क्रिस्टल भंग करने और यूरिक एसिड घुलनशीलता को बढ़ाने में मदद करता है। लेकिन सोडियम की अधिकता के कारण आपको बेकिंग सोडा लेते समय सावधानी बरतनी चाहिए। क्‍योंकि इससे आपका रक्तचाप बढ़ सकता है।  
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch