Categories

ये वो दवाई है जिसे दिन में सिर्फ़ 4 चम्मच लेने से ही कैंसर खत्म, जानकारी अच्छी लगे तो शेयर जरुर करें ताकि किसी की जिन्दगी बच सके


दुनिया भर के अरबों लोग कैंसर से पीड़ित हैं, आज के समय की यह सबसे घातक बीमारी है। लेकिन कुछ लोगों का दावा है कि यह रूसी वैज्ञानिक डॉ. मेर्मेर्सकी (Hristo Mermerski) द्वारा की खोजे एक प्राकृतिक उपचार से ठीक किया जा सकता है। रूस के एक वैज्ञानिक डॉ. मेर्मेर्सकी (Hristo Mermerski) ने घर में बनाई जाने वाली एक इसी औषधि इजाद की है जिस के इस्तेमाल से बहुत सी भिन्न भिन्न प्रकार की बीमारियो अथवा कैंसर जैसे जानलेवा बीमारी से भी बचा जा सकता है | ये औषधि कई प्रकार के कैंसर के इलाज में फ़ायदेमंद हो सकती है

दुनिया की ऐसी बहुत सी बड़ी बड़ी लाइलाज बीमारियाँ है जिनका इलाज संभव नहीं है और इसकी वजह से लोग मर जाते हैं | फिर वो चाहे एड्स हो या कैंसर हो या ट्यूमर हो | ये बीमारियाँ शुरू में तो पकड में नहीं आती हैं और जब तक इनका पता चलता है तब तक ये हाथ से बाहर होती हैं | कितनी ही मासूम जानों को हमने इन बीमारियों की वजह से खोते हुए देखा है | लोग दावा तो करते हैं कि इनका इलाज कहीं आयुर्वेदा में है या किसी तांत्रिक के पास है लेकिन आजतक इस बारे में कुछ ढंग का देखने को मिला नहीं है |


इस बीमारी से देश दुनिया में अरबों लोग ग्रसित हैं और ये बीमारी आज के दौर की सबसे घातक बीमारी बन के सामने आई है | लेकिन कुछ सुखद इस बारे में सुनने को मिल रहा है क्योकि बहुत से लोग इस बात का दावा कर रहे हैं कि रूसी वैज्ञानिक हृस्तो मेर्मेर्सकी ने एक ऐसा प्राकृतिक उपचार का इजाद किया है जिससे इस बीमारी का इलाज संभव हुआ है | रूसी वैज्ञानिक ने घर में बनने वाली ऐसी नायाब दवाई खोजी है जिसको प्रयोग करने पर केंसर सहित बहुत सी और भी बीमारियाँ दूर की जा सकती हैं| ये दवाई कैंसर के तमाम प्रकार के फॉर्म्स को सही करने में सक्षम बताई जा रही है |

डॉ. मेर्मेर्सकी के अनुसार ये औषधि लम्बी उम्र और स्वस्थ जीवन के लिए सहायक है | ये कैंसर के इलाज में बहुत लाभकारी है और साथ ही जवान दिखने और शारीरिक ताकत के लिए भी फायदेमंद है | ये शरीर में मेटाबोलिज्म को बढाता है, गुर्दों और लीवर को साफ़ करता है, शरीर में बिमारिओं से लरने की शक्ति पैदा करता है और दिल के दौरे से बचाता है |

आइये जानते है इस औषधि को तैयार करने की आवश्यक सामग्री के बारे में :

1. 400 ग्राम ताजा अखरोट

2. 400 ग्राम अंकुरित अनाज गेंहू

3. 1 किलो प्राकृतिक शहद

4. 12 ताजा लहसुन की कलियाँ

5. 15 ताजा निम्बू

अंकुरित अनाज तेयार करने का तरीका :
अनाज को एक कांच के बर्तन में रख दे उस में उतना पानी डालें जिस से अनाज अच्छी तरह भीग जाए | इसे एक रात के लिए इसी तरह छोड़ दें अगली सुबह अनाज को निकाल कर छान पानी निकाल दें अच्छी तरह पानी से धोने के बाद अनाज में से सारा पानी निकल दें | पानी निकालने के बाद अनाज को दोबारा कांच के बर्तन में ढाल कर 24 घंटे तक रखें | इस से अंकुरित अनाज तयार हो जायेगा।

औषधि तैयार करने की विधि : 
लहसुन की कलियाँ,अंकुरित अनाज और अखरोट को एक साथ पीस लें | 5 नीम्बू बिना छिलका फेंके पीस ले | बाकी के बचे 10 नीम्बू का रस इसमें निचोड़ दें |अब सब चीजों को अच्छे से मिला दें | अब इसमें लकड़ी की चम्मच से शहद अच्छी तरह मिलाएं | इस मिश्रण को एक कांच के जार में भरके फ्रिज में रख दें |

सेवन करने का तरिका :
डॉ मेर्मेर्सकी के अनुसार इसे सोने के आधा घंटे पहले लें और हर बार खाना खाने के आधे घंटे पहले लें | अगर कैंसर के इलाज हेतू ले रहे हैं तो हर 2 घंटे में इसे 2-2 चम्मच लेते रहें | ये कैंसर के लिए तो फायदेमंद है ही उसके साथ ये आपको जवान और ताकतवर बनाने में भी मददगार है |
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch