Categories

This Website is protected by DMCA.com

सर्दियों में रात को सोने से पहले यह जरूर करें, इतने फायदे होंगे की आप हैरान रह जाएंगे


  • क्या आपको सर्दियों में बार बार खांसी ,जुकाम या बुखार की समस्या होती है। क्या आपको थोड़ा सा ठंडा पानी सेवन करने या किसी ठंडी चीज़ का सेवन करने शरीर में समस्या उतपन होने लगती है। ठंड में थोड़ीदेर खड़े रहने या कुछ काम करने से कारण आपको जुकाम या सर दर्द होने लगता है। और आप इस समस्या से बहुत परेशान है। वही कुछ ऐसे लोग भी होते है जिस पर मौसम के बदलाव का कोई फर्क नहीं पड़ता और सर्दी हो या गर्मी वो हमेशा बीमारियों से दूर रहते है। सर्दी में खांसी जुक़ाम तो दूर की बात उनको सर दर्द भी नहीं होता है। क्या आप जानते है की ऐसा क्यों होता की आप तो मौसम बदलते ही बीमार होने लगते है और दुसरो पर मौसम के बदलाव का कोई फर्क ही नहीं पड़ता। अगर नहीं पता ज्यादा सोचने की कोई जरूरत नहीं है। क्योंकि आज हम आपको यहाँ सब बताने जा रहे है है की आखिर ऐसा क्यों होता है।
शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता :
  • ऐसा हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता के कारण होता है। जिस व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होती है वो बार बार बीमार होता है और जिस व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है वह बहुत कम बीमार पड़ता है। क्या आप जानते है की हम अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को घरेलु उपाय के द्वारा बढ़ा भी सकते है। आज हम आपको एक ऐसे घरेलु उपाय के बारे में बताने जा रहे है जिसका सेवन करके हम रातों रात अपने शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को आसानी से बढ़ा सकते है। इसके लिए जो आवश्यक सामग्री चाहिए। वह कुछ इस प्रकार है।
आवश्यक सामग्री :
  1. अदरक का रस
  2. शहद
  3. बादाम बारीक कटे हुए
  4. लहसुन बारीक कटा हुआ
बनाने की विधि और सेवन का तरीका :
  • हमने इन चारो सामग्री को सामान मात्रा में आपस में मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लेना है। आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाला घरेलु उपाय बन कर तैयार है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए रात को सोने से आधा घंटा पहले हमने इसकी एक चम्मच का सेवन करना है। अगर आप ऐसा करते है तो ऐसा करने से आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने लगती है।
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch