Categories

आँतों में जमी सारी गंदगी को निकाल बाहर करता है ये असरदार घरेलू उपाय

  • इस बात से तो आप सभी सहमत होंगे की पेट हमारे शरीर का सबसे अहम् हिस्सा है। पेट में अगर किसी भी तरह की दिक्कत हो तो उससे हमारा पूरा बॉडी सिस्टम ईफेक्ट होता है। आजकल पेट और आँतों से जुडी समस्याएं आम होगयी है, लोग गलत लाइफस्टाइल और खानपान की वजह से आये दिन किसी ना किसी समस्या से आहत जरूर रहते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे कारगर नुस्खे बताने जा रहे हैं जिसे अपना कर आप अपने पेट और आंत में जमी सारी गंदगी को बस कुछ ही दिनों में बाहर निकाल सकते हैं और एक स्वस्थ जीवन की तरफ अपना कदम बढ़ा सकते हैं। आयुर्वेद में भी बताया गया है की इंसान के शरीर में होने वाली तमाम बीमारियों का जड़ पेट और आंत में जमी हुई गंदगी ही होती है। पेट की गंदगी को दूर करने के लिए आँतों की सफाई भी सबसे जरूरी है। इन नुस्कों को आजमाकर आप भी अपने पेट और आँतों में जमी गंदगी को बाहर निकाल सकते हैं।
आँतो में जमी गंदगी को साफ करने के घरेलू उपाय 
  1. आंत हमारे पाचन तंत्र का एक ऐसा अहम् हिस्सा है जो शरीर के सारे विषाक्त पदार्थों को निकालकर शरीर को बहुत सी बीमारियों से बचाता है। आंत में जमी गंदगी को दूर करने के लिए आप रोज कम से कम 8 से 10 ग्लास पानी जरूर पिएं। पानी आंत की सफाई के लिए दवा का काम करता है और शरीर के सारे अशुद्ध पदार्थों को बाहर निकाल शरीर को सभी रोगों से मुक्त रखता है।
  2. पुरानी आंव या आंतों की सूजन में 100-100 ग्राम बेल का गूदा, सौंफ, ईसबगोल की भूसी और छोटी इलायची को एक साथ पीसकर पाउडर बना लेते हैं। अब इसमें 300 ग्राम देशी खांड या बूरा मिलाकर कांच की शीशी में भरकर रख देते हैं। इस चूर्ण की 2 चम्मच मात्रा सुबह नाश्ता करने के पहले ताजे पानी के साथ लेते हैं और 2 चम्मच शाम को खाना खाने के बाद गुनगुने पानी या गर्म दूध के साथ 7 दिनों तक सेवन करने से लाभ मिल जाता है। लगभग 45 दिन तक यह प्रयोग करने के बाद बंद कर देते हैं। इससे सुबह पेट साफ़, कब्ज, पुरानी आंव और आंतों की सूजन के रोग दूर हो जाते हैं।
  3. ईसबगोल की मात्रा 6 ग्राम, को 250 मिलीलीटर गुनगुने दूध के साथ सोने से पहले पी लें। कभी-कभी ईसबगोल की भूसी लेने से पेट फूल जाता है। ऐसा बड़ी आंतों में ईसबगोल पर बैक्टीरिया के प्रभाव से पैदा होने वाली गैस से होता है। इसलिए ध्यान रखें कि ईसबगोल की मात्रा कम से कम ही लें। ईसबगोल के प्रयोग से आंतों की कार्यशीलता बढ़ जाती है, जिससे मल ठीक से बाहर निकल आता है और कब्ज दूर हो जाती है। ईसबगोल लेने के बाद दो-तीन बार पानी पीना चाहिए। इससे ईसबगोल अच्छी तरह फूल जाता है।
  4. शरीर की गंदगी को दूर करने के लिए शहद भी रामबाण का काम करता है। रोज सुबह गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से शरीर में मौजूद सभी विषैले पदार्थ निकल जाते हैं और बॉडी का मेटाबोलिज्म रेट भी बढ़ जाता है। ये आँतों की गंदगी दूर करने में सबसे ज्यादा असरदार साबित होता है।
  5. आँतों की गंदगी को दूर करने के लिए आप रोज सुबह एक ग्लास एप्पल जूस के साथ 2 चम्मच नीबू का रास मिलकर भी पी सकते हैं। इससे आपके शरीर के सारे विषाक्त पदार्थ तो बाहर होंगे ही साथ ही साथ शरीर स्वस्थ और तंदुरुस्त रहेगा। दिन की शुरुवात अगर एप्पल जूस के साथ की जाए तो निश्चित तौर पर आंत की सफाई होती है और शरीर एकदम स्वस्थ रहता है।
  6. शरीर में जमे टॉक्सिन को बाहर निकालने के लिए रोज सुबह एक ग्लास पानी में 2 चम्मच एलोवेरा जूस मिलाकर पीने से भी काफी फ़ायदा होता है। एलोवेरा जूस बॉडी को हमेशा हाइड्रेट रखता है और शरीर के फैट को भी कम करने में मदद करता है। इस जूस को पानी के साथ रोज सुबह लेने से व्यक्ति कभी भी किसी प्रकार के पेट या अंत से जुड़ी बीमारियों से ग्रसित नहीं हो सकता।
  7. इसके अलावा अगर कोई व्यक्ति हमेशा ही पेट या आंत से जुड़ी समस्याओं से ग्रसित रहता है तो उसे हमेशा भोजन के साथ दही का उपयोग खाने में जरूर करना चाहिए। दही को पेट और आंत के लिए सबसे उत्तम भोज्य पदार्थ माना गया है, इसका सेवन व्यक्ति के सारे अंदरूनी समस्याओं का समाधान है।
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch