Categories

लिवर को शुद्ध करने से लेकर उसकी सुरक्षा तक कारगर है ये चमत्कारी घरेलु उपाय



लिवर हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगो में से एक है लिवर पाचन तंत्र से खून को फ़िल्टर करने का काम करता है इसलिए लिवर की सेहत को नजरअंदाज नही किया जा सकता है क्योकि हमारा पूरा शरीर स्वस्थ लिवर पर ही निर्भर करता है लेकिन आज के समय में स्वास्थ्य पर ज्यादा ध्यान न देने की वजह से कई लोगो के स्वास्थ्य पर बहुत बुरा असर पड़ता है कई बार गलत खाना पीने कई वजह से लिवर कई समस्या आ जाती है लेकिन हम आपको कुछ घरेलू नुस्खे बताते है जिनसे आप अपने लिवर को सही रख सकते है।

लिवर में ख़राबी के लक्षण :
  • इस रोग में जीभ मैली हो जाती है और मुख का स्वाद खराब हो जाता है। इस रोग में आलस, सिर दर्द, काला दस्त, दस्त में आंव आना, कब्ज बनना, जी मिचलाना, दाईं कोख में पसली के नीचे बोझ और भरीपन का महसूस होना आदि लक्षण दिखाई देते हैं।
लीवर ख़राब होने के कारण :
  • भोजन में ज़्यादा तेल, घी का प्रयोग, शराब का सेवन आदि इसके मूल कारण हैं। लेकिन ऐसा नहीं कि यदि आप शराब का सेवन नहीं करते तो आपका लीवर ख़राब नहीं हो सकता। अनियमित व दूषित खान-पान के अलावा भी कई कारण हो सकते हैं।
आइये जानते है लिवर को साफ़ रखने के 14 घरेलु उपायो के बारे में :
  1. पानी और शहद : सुबह के समय में गुनगुने पानी में निम्बू का रस और सहद मिलाकर पीने से यह हमारी सेहत के लिए अच्छा माना जाता है शाद को गर्म पानी के साथ पीने से लिवर और वजन कम करने में मदद मिलती है इससे शरीर कई कई समस्याओ में भी मदद मिलती है अच्छी पाचन शक्ति के लिए गुनगुने पानी में निम्बू और शहद मिलकर पीने से पेट कई सफाई होती है यह लिवर में रस पैदा करता है जिससे पाचन शक्ति में मदद मिलती है निम्बू में एसिड होता है जो हमारे शरीर कई शक्ति को मजबूत बनाता है इसी तरह शहद शरीर में होने वाले सक्रमण को रोकता है। शहद और पानी के सेवन से हमारे शरीर को काम करने कई शक्ति मिलती है इसके सेवन से शरीर में ऊर्जा का स्तर बाद जाता है यह हमारे शरीर के अंगो को सही रखता है जिससे वो सही से काम करते है। शहद और पानी के साथ कब्ज दूर होती है कब्ज होने पर इस मिश्रण का सेवन करने से राहत मिलती है इससे मल बाहर निकलने में मदद मिलती है।
  2. लहसुन : लहसुन कई एक कली में लिवर को स्वस्थ रखने के गुण होते है जो शरीर में मौजूद हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने में हमारी मदद करता है लहसुन में एलिसिन और सिलेनियम तत्व पाए जाते है जो लिवर कई साफ सफाई में सहायता करते है।
  3. सेब : लिवर को साफ रखने में सेब अहम भूमिका निभाता है सेब में पेकिटन नामक तत्व पाया जाता है यह तत्व शरीर को शुद्ध और पाचन शक्ति को ठीक रखता है।
  4. हरी सब्जियां : लिवर कई सफाई और इसे स्वस्थ रखने में हरी सब्जियां अहम भूमिका निभाती है इस पत्ता दार सब्जियों को आप कच्चा पकाकर या जूस बनाकर भी ले सकते है यह शरीर में मौजूद हानिकारक पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करती है।
  5. पीपल : पीपल का 5 ग्राम चूर्ण सुबह-शाम लेने से जिगर की बिमारी से राहत मिलती है।
  6. अर्कक्षार : आधा ग्राम अर्कक्षार शहद या गर्म पानी से खाना-खाने के बाद सेवन करने से जिगर की परेशानी दूर होती हैं।
  7. अभयालवन : 1-1 ग्राम अभयलावन और अर्कलवन को गर्म पानी से खाना-खाने के बाद लेने से जिगर की खराबी दूर होती है।
  8. अदरक : अदरक के 1 ग्राम बारीक चूर्ण को पानी के साथ सुबह-शाम लेने से जिगर की बिमारी में आराम मिलता है।
  9. ककड़ी : 5-5 ग्राम ककड़ी, खीरे के बीज, कासनी के बीज पानी के साथ पीसकर इसमें खांड मिलाकर सुबह-शाम पीने से जिगर की खराबी में राहत मिलती है।
  10. इमली : 20 ग्राम इमली के बीज को 250 मिलीलीटर पानी के साथ रात को भिगो दें और सुबह इसे पानी में मसलकर चीनी मिलाकर पीने से जिगर को आराम मिलता है।
  11. छाछ : 1-1 गिलास छाछ दिन में 2-3 बार पीने से जिगर का रोग ठीक होता है।
  12. कसौंदी बूंटी : 10 ग्राम कसौदी बूंटी के पत्ते, 7 कालीमिर्च पानी के साथ पीसकर छानकर सुबह-शाम पीने से जिगर की कमजोरी ठीक हो जाती है।
  13. अजवायन : 12 ग्राम देशी अजवायन को 125 ग्राम पानी के साथ मिट्टी के बर्तन में रात को भिगो दें। सुबह इसी पानी को निथार कर पीने से 7 दिनों तक जिगर में खून की कमी दूर हो जाती है।
  14. सोंठ : 20-20 ग्राम सोंठ, बालछड़ और दालचीनी को अच्छी तरह छानकर इसमें 60 ग्राम खांड मिलाकर 5-5 ग्राम की मात्रा दिन में सुबह-शाम लेने से जिगर की खून की कमी दूर होती है।
➡ लिवर को स्वस्थ रखने का अचूक रामबाण उपाय लिवर केयर चूर्ण :
★ आवश्यक सामग्री :
  • भृंगराज, 
  • भूमि-आंवला, 
  • तुलसी पत्र, 
  • कासनी, 
  • हरड़, 
  • पुनर्नवा मूल, 
  • गिलोय, 
  • आंवला, 
  • रेवतचीनी, 
  • वायविडंग, 
  • सारपुखा मूल, 
  • पितपापड़ा सत, 
  • तालीसपत्र, 
  • चित्रक छाल, 
  • कर्चूर, 
  • नीसोथ, 
  • मुलेठी, 
  • रोहिडा छाल, 
  • मकोय, 
  • कसोंदि सत, 
  • अर्जुन छाल।
➡ लिवर केयर चूर्ण बनाने और सेवन करने की प्रयोग विधि :
  • ऊपर दि गयी औषधियों को एक करके बारीक़ पीस ले। फिर कपडा छान करले। बस हो गया आपका लिवर केयर चूर्ण तैयार। इस चूर्ण की एक चम्मच को एक कप पानी मे डालकर हिला कर छोड़ देवे। फिर एक घंटे बाद हिलाकर पिये इस तरह दिन मे दो  बार लेने से आपकी लिवर संबन्धी बीमारियों से छुटकारा मिल जाएगा। इसके सेवन से कब्ज़ हेपटाइटिस बी भी ठीक होती है।
  • नोट : ऊपर लिखी सभी जड़ी-बूटियाँ आप अपने नजदीकी जड़ी-बूटि की दुकान से खरीद सकते है। यदि आपको यह जड़ी-बूटि उपलब्ध नही हो पाये तो इन का बना बनाया लिवर केयर चूर्ण हम आपको उपलब्ध करवा सकते है। संपर्क सूत्र - Dr.R.K.Kochar Call & Whatsapp : +919352950999 & E-mail : Allayurvedic@gmail.com 
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch