Categories

चम्पा का फूल सूँघने से दिल और दिमाग शक्तिशाली बनता है तो इसकी जड़ का काढ़ा क़ब्ज़ मिटाती है, इसका तेल हाथ-पैरों की ऐंठन और गठिया में वरदान है



आज हम All Ayurvedic में ऐसे फूल/पौधे की बात करेंगे जिसे नाम से सभी जानते है लेकिन उसके काम से अर्थात गुनो से बहुत ही कम जनते होंगे। हम बात कर रहे है चम्पा की जो सामान्यतः बगीचों, उधानो या सड़क के दौनो और सजावट के रूप में लगाया जाता हैं। इसे हिन्दी में चम्पा, संस्कृत में चांपेय, चम्पक और हेमपुष्प कहते है, गुजराती में चंपों और मराठी में सोनचांप के नाम से जाना जाता है। चम्पा के पेड़ पीले रंग के होते हैं। इसका स्वाद तीखा होता है। चम्पा के पत्ते रामफल के पत्तों के समान होते हैं। इसका फूल बहुत ही पीला और सुगन्धित होता है। यह कुछ गर्म और शीतल होता है।

चम्पा के 11 अद्भुत फ़ायदे :
  1. हाथ-पैरों की ऐंठन : हाथ-पैरों पर चम्पा के फूलों का तेल बनाकर मालिश करने से ऐंठन वाला दर्द ठीक हो जाता है।
  2. गठिया : गठिया के रोगी को चम्पा के फूलों से बने हुए तेल से मालिश करने से लाभ मिलता है।
  3. कब्ज : चम्पा की जड़ का काढ़ा बनाकर पीने से दस्त आकर कब्ज की शिकायत मिट जाती है, बहुत ही कारगर उपाय है।
  4. कुष्ठ और खुन की ख़राबी : 3 ग्राम चम्पा की छाल के चूर्ण को दिन में 2 बार पानी के साथ खाने से खून की खराबी अर्थात दूषित रक्त साफ हो जाता है तथा कुष्ठ में फ़ायदा होता है।
  5. पेट के कीड़े : चम्पा के फूलों को पीसकर प्राप्त हुए रस को निकालकर 3 मिलीलीटर की मात्रा में लेकर शहद के साथ चाटने से आंतों के कीड़े समाप्त हो जाते हैं। या 10 मिलीलीटरचम्पा के फूलों के रस को शहद के साथ पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं। या चम्पा के 20 मिलीलीटर ताजे पत्तों के रस को पीने से पेट के कीड़े मर जाते हैं और पेट के दर्द में लाभ होता है।
  6. पेट दर्द : 10 मिलीलीटर चम्पा के पत्तों का रस लेकर 20 ग्राम शहद के साथ मिलाकर सुबह और शाम सेवन करने से पेट के दर्द में लाभ होता है। या चम्पा के पत्तों को पीसकर शहद में मिलाकर पीने से पेट का दर्द ठीक हो जाता है।
  7. बंद मासिक-धर्म : जिन माता-बहनो को यह समस्या रहती है उसके लिए चम्पा की जड़ का चूर्ण को 1/2 से 1 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम देने से बंद मासिक धर्म भी जारी हो जाती है।
  8. शरीर को शक्तिशाली बनाना : शरीर की शक्ति को बढ़ाने के लिए चम्पा के फूलों का चूर्ण बनाकर इस चूर्ण में शहद मिलाकर खाने से शरीर शक्तिशाली बन जाता है।
  9. दिल और दिमाग शक्तिशाली : हृदय के लिए लाभकारी, जलन, पित्त और खून की खराबी को नष्ट करती है। इसको सूंघने से दिल और दिमाग शक्तिशाली बनता है।
  10. फोड़ा : चम्पा की जड़ की छाल को दही में पीसकर फोड़ों पर लगाने से उनकी सूजन ठीक हो जाती है।
  11. दाद : पैर के दाद पर चम्पा के फूलों को पीसकर लगाने से लाभ होता है।

loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch