Categories

This Website is protected by DMCA.com

गाय के मक्खन के 10 अद्भुत फ़ायदे जान दंग रह जाएँगे आप, ये बुढ़ापे तक जवानी बरक़रार रखता है तो बालों को सफ़ेद होने और झड़ने से बचाता है


दही को मथकर (बिलोकर) मक्खन निकाला जाता है। मक्खन छूने में बहुत ही नर्म होता है। मक्खन छोटे-बडे़ सभी उम्र के लोगों के लिए अमृत के समान है।
  • ताजा मक्खन स्वादिष्ट होता है और यह घी की अपेक्षा जल्दी पचता है। इसके सेवन से शरीर की नई कोशिकाओं का निर्माण होता है। इसका नियमित सेवन करने वालों को चश्मा लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।
मक्खन के सेवन से मर्दाना ताक़त में अधिक वृद्धि होती है एवं पित्त और वायु के दोष दूर होते हैं। इसके सेवन से पाचनशक्ति बढ़ती है। मक्खन पचने में हल्का है और यह तुरन्त खून (रक्त) बनाता है, मक्खन बवासीर तथा खांसी के रोगों में लाभकारी है।  एक महत्त्वपूर्ण बात की अगर मक्खन गाय का हो तो नीचे बताए गये सभी 10 उपायों में यह वरदान साबित होगा।

मक्खन के 10 अद्भुत फायदे :

  1. यक्ष्मा (टी.बी.) : यक्ष्मा (टी.बी.) से ग्रस्त रोगियों के लिए मक्खन खाना लाभदायक होता है।
  2. हाथ-पैरों में जलन : मक्खन और मिश्री को बराबर मात्रा में मिलाकर 2 चम्मच रोजाना सुबह-शाम सेवन करने से हाथ-पैरों की जलन में आराम आता है।
  3. बुखार : गाय के दूध का मक्खन और खड़ी शर्करा का सेवन करने से जीर्ण ज्वर (पुराना बुखार) दूर होता है, मक्खन के साथ शहद और सोने के वर्क को मिलाकर खाने से क्षय (टीबी.) रोग में लाभ मिलता है एवं शरीर में शक्ति पैदा होती है।
  4. आंखों में जलन : गाय के दूध का मक्खन आंखों पर लगाने से आंखों की जलन दूर हो जाती है। यदि खुरासानी अजवायन का दूध या भिलावा आंख में पड़ गया हो तो गाय के दूध के मक्खन का आंख में काजल लगाने से आंखों की जलन ठीक हो जाती है।
  5. आंख आना : लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग स्वर्ण बसन्त मालती सुबह-शाम मक्खन-मिश्री के साथ सेवन करने से आंख आना, आंखों में कीचड़ जमना, आंखों की रोशनी कमजोर होना आदि रोग दूर हो जाते हैं
  6. दांत निकलना : मक्खन को बच्चों के मसूढ़ों पर मलने से दांत आसानी से निकल आते हैं।
  7. मुंह के छाले : चिरमी के फूल का चूर्ण बनाकर इसके चूर्ण को घी या मक्खन में मिलाकर छालों पर लगायें। इसको रोजाना 2 से 3 बार छालों पर लगाने से छाले जल्द खत्म हो जाते हैं।
  8. रतौंधी या रात में न दिखाई देना : लगभग 1 ग्राम का चौथा भाग यशद (जस्ता) भस्म (राख) को मक्खन, मलाई या शहद के साथ सुबह और शाम को दें। इसे आंख में लगाने से पैत्तिक, पित्त से पैदा हुआ रतौंधी (रात में न दिखाई देना) रोग दूर होता है।
  9. बालों के रोग : मक्खन के साथ हल्दी मिलाकर सिर में मालिश करने से बालों को लाभ होता है। बालों को सफ़ेद होने और झड़ने से बचाता है।
  10. उम्र भर जवाँ रखे : इसके सेवन से इंसान बुढ़ापे में भी जवानी महसूस करता है। 
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch