Categories

शरीर के किसी भी अंग की पथरी ही क्यों ना हो, इस काढ़े को सुबह-शाम पीने से वो गलकर बाहर निकल जाएगी



  • शहद धरती पर पाया जाने वाला सबसे पुरानी मीठी चीज है। कई रेसिपी में इसका इस्‍तेमाल होता है। शहद आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। हमें अंदाजा है कि यह आपकी रसोई में जरूर होगा और अगर नहीं है, तो इस लेख को पढ़ने के बाद तो जरूर हो जाएगा।
  • नियमित रूप से शहद का सेवन करने से शरीर को स्फूर्ति, शक्ति और ऊर्जा मिलती है। शहद से शरीर स्वस्थ, सुंदर और सुडौल बनता हैं।
  •  शहद मोटापा घटाता भी है और शहद मोटापा बढ़ाता भी है। मीठे शहद के गुणों से रोगी व्यक्ति स्वस्थ हो सकता है। आइए जानें शहद के लाभ के बारे में।

बनाने की विधि:

  • मधुयष्टि, शिग्रुत्वाक, इलायची, पिप्पलीमूल, वासापत्र, पाषाण भेदमूल, प्रियंगु के बीज, छोटे गोखरू के फल तथा एरण्ड मूल सब को बराबर मात्रा में लेकर काढ़ा बना लें। 
  • इसे लगभग 1 ग्राम के चौथे भाग काढ़े में 5 ग्राम शुद्ध शिलाजीत, 25 ग्राम शर्करा और 14 ग्राम शहद मिलाकर रोजाना सुबह-शाम पीयें। इससे सभी प्रकार की पथरी ठीक होती है। वो गलकर मूत्र मार्ग द्वारा शरीर से बाहर निकल जाएगी। 

ध्यान रखे:

  • शहद को गर्म नहीं करना चाहिए
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch