Categories

प्याज के बीज का ऐसे करे इस्तेमाल मिल जाएगा अस्थमा में आराम


  • प्याज के बीज या कलौंजी भारतीय रसोई में पाया जाने वाला मुख्य तत्व है। अपने नाम के विपरीत इनका प्याज से कोई संबंध नहीं है तथा वास्तव में यह काले जीरे का पौधा होता है। लोग कलोंजी की महक एवं स्वाद का मजा कई भारतीय व्यंजनों में लेते है। आयुर्वेद के अनुसार इसकी तेज महक के अलावा इसमें अत्यधिक उपचारात्मक क्षमता भी होती है। इसी कारण की वजह से यह छोटा सा बीज कई घातक बिमारियों से लड़ने में कारगर है।
  • अस्थमा एक घातक सूजन रोग है जो फैंफड़ों में जाने वाली वायु में अवरोध पैदा करता है तथा सांस लेने वाली नली को अति संवेदनशील बना देता है। इस बिमारी का कोई ईलाज नहीं है पर यह रोगी को परेशानी में डाल देती है। इस घातक बीमारी को अगर आप घर में ही नियंत्रण करना चाहते हैं तो आप प्याज के बीज को आज ही घर ले आएं। ऐसा करने से ना केवल आपकी परेशानी हल होगी बल्कि इसका सेवन करने से होने वाले फायदा भी आपको नजर आएगा।
  • हालांकि अस्थमा को रोकने के लिए बाजार में विभिन्न दवाईयां उपलब्ध है जिनमें से बहुत.सी दवाइयों के विपरीत प्रभाव पड़ते है , जो हमारे स्वास्थ्य और शरीर के लिए नुकसान भी बन सकते है। लेकिन अगर आप इस घातक बीमारी से छूटकारा पाना चाहते हैं जो अस्थमा कि विभिन्न समस्या से कारगर आराम दिलाता हो तो प्याज के बीज एक अद्वितीय विकल्प है जिसे आप हमेशा चून सकते है।
  • हाल ही के एक अध्ययन से पता चला है कि ऑनियन सीड में थाईमोक्विनोन नामक एक आवश्यक तत्व होता है जिसमें अस्थमा पर काबू पाने की क्षमता होती है। रीसर्चरस ने जानवरों पर इसका अध्ययन किया जिसके सकारात्मक परिणाम सामने आए। मानव पर किए गए अग्रिम रीसर्च में भी ऑनियन सीड अस्थमा से लड़ने में सक्षम पाये गए। रीसर्चरस ने पाया कि यह बीज अस्थमा पीडि़त के फैंफड़ों में होने वाली सूजन को खत्म करता है तथा इस तरह यह समस्या से आराम दिलाता है। जब तक आप इस घरेलू उपचार का उपयोग खुद नहीं करेंगे तब तक आप को इस बात पर विश्वास शायद ही हो, लेकिन प्याज का यह बीज सच में फायदेमंद है।
  • केवल अस्थमा ही नहीं बल्कि ऑनियन सीड इससे संबंधित दूसरी अन्य बिमारियों पर भी खास ध्यान देता है। प्याज के यह बीज सांस की तकलीफ एवं सीने में दर्द आदि का उपचार भी करता है। यह ऐसी बीमारियां हैं जिनका कोई इलाज नहीं हो पाता है, लेकिन नियमित रूप से प्याज के बीज का सेवन करने से आपको इससे होने वाले लाभ का अंदाजा जरूर होगा।

ऑनियन सीड का उपयोग करने के टिप्स


  • ऑनियन सीड को मसलकर बारिक पीस ले तथा इन्हें पानी या दुध के साथ मिलाकर लेवें। अस्थमा की समस्या से आराम पाने के लिए आप ऑनियन सीड के तेल को शहद में मिलाकर इस्तेमाल कर सकते है। अगर आप को प्याज का बीज ऐसे खाने में स्वाद ना लगता हो तो यकिन मानिए अगर आप इनका उपयोग सलाद के रूप में भी कर सकते हैं। इनके साथ ही ऑनियन सीड के स्वास्थ लाभ लेने के लिए इसे आप दाल,सब्जी एवं चपाती जैसे विभिन्न व्यंजनों पर छिड़क सकते है।
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch