Categories

इस पौधे की सिर्फ़ 1 पत्ती 15 दिनो तक रोजाना खाने से बड़ी से बड़ी पथरी चाहे वो किडनी की हो या पित्त की बाहर निकल जाएगी



दोस्तों पथरी आजकल की आम समस्या हो गयी हैं जिसका इलाज भी हमारे घर आंगन में ही हैं लेकिन हमारी मानसिकता हो गयी हैं डोक्टर के पास भागने की । ये पोधा हैं पथर चट्टा का जिसे पाखाण भेद भी कहते हैं जिसका अर्थ हैं पथर को तोड़ने वाला । इसके 3 पत्तों को सुबह व शाम को खाली पेट 20 से 25 दिन (यदि पथरी बड़ी हो तो वरना 1 पत्ता 15 दिन तक ले) सेवन करने से पत्थरी टूट कर निकल जाती हैं । आयुर्वेद अपनाये स्वास्थ्य बचाए। अगर आपको यह पौधा ना मिले तो आप होमियोपैथी उपचार करे ।
|
|
➡ होमियोपेथी इलाज राजीव दीक्षित जी द्वारा :
  • अब होमियोपेथी मे एक दवा है ! वो आपको किसी भी होमियोपेथी के दुकान पर मिलेगी उसका नाम हे BERBERIS VULGARIS ये दवा के आगे लिखना है MOTHER TINCHER ! ये उसकी पोटेंसी है। वो दुकान वाला समझ जायेगा। यह दवा होमियोपेथी की दुकान से ले आइये।
  • ध्यान दे : ये BERBERIS VULGARIS दवा भी पथरचट नाम के पोधे से बनी है बस फर्क इतना है ये dilutions form मे हैं पथरचट पोधे का botanical name BERBERIS VULGARIS ही है। 
➡ इस दवाई की प्रयोग विधि :
  • अब इस दवा की 10-15 बूंदों को एक चौथाई (1/ 4) कप गुण गुने पानी मे मिलाकर दिन मे चार बार (सुबह,दोपहर,शाम और रात) लेना है। चार बार अधिक से अधिक और कमसे कम तीन बार। इसको लगातार एक से डेढ़ महीने तक लेना है कभी कभी दो महीने भी लग जाते है।
  • इससे जीतने भी Stone है, कही भी हो गॉल ब्लेडर (Gall bladder) मे हो या फिर किडनी मे हो, या युनिद्रा के आसपास हो,या फिर मुत्रपिंड मे हो। वो सभी स्टोन को पिगलाकर ये निकाल देता हे।
  • 99% केस मे डेढ़ से दो महीने मे ही सब टूट कर निकाल देता हे कभी कभी हो सकता हे तीन महीने भी हो सकता हे लेना पड़े|तो आप दो महिने बाद सोनोग्राफी करवा लीजिए आपको पता चल जायेगा कितना टूट गया है कितना रह गया है। अगर रह गया हहै तो थोड़े दिन और ले लीजिए। यह दवा का साइड इफेक्ट नहीं है। www.allayurvedic.org
  • ये तो हुआ जब stone टूट के निकल गया अब दोबारा भविष्य मे यह ना बने उसके लिए क्या??? क्योंकि कई लोगो को बार बार पथरी होती है |एक बार stone टूट के निकल गया अब कभी दोबारा नहीं आना चाहिए इसके लिए क्या ???
  • इसके लिए एक और होमियोपेथी मे दवा है CHINA 1000 प्रवाही स्वरुप की इस दवा के एक ही दिन सुबह-दोपहर-शाम मे दो-दो बूंद सीधे जीभ पर डाल दीजिए। सिर्फ एक ही दिन मे तीन बार ले लीजिए फिर भविष्य मे कभी भी स्टोन नहीं बनेगा।
|
अधिक जानकारी के लिए यह👇👇 वीडियो देखें और हमारा यूट्यूब चैनल सब्सक्राइब करे।
|

|


    जानकारी उपयोगी है कृपया शेयर करके जरूरतमंद लोगो तक पंहुचा कर उनका भला करे।
    Thank you for visit our website

    टिप्पणि Facebook

    टिप्पण Google+

    टिप्पणियाँ DISQUS

    MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch