Categories

पायरिया का घरेलु उपचार मात्र तीन दिन में , पोस्ट को शेयर करना ना भूले



पायरिया की बीमारी का उपचार 
पायरिया एक ऐसी बीमारी जो हमारे दाँतों में हो जाती है । पायरिया होने पर मनुष्य के दाँतों में अधिक दर्द होने लगता है । और इंसान इस दर्द से परेशान होकर अपने दांत को निकलवाने लगते है । दाँत निकलवाने से इंसान समय से पहले ही बूढ़ा सा दिखाई देने लगता है । ये पायरिया कि बीमारी इंसान की लापरवाही के कारण हो जाती है । दाँतों में पायरिया होने का मुख्य कारण यह है कि दाँतों का समय पर साफ न करना और किसी वस्तु का सेवन करने के बाद अपने दाँतो को साफ न करना । दाँतों को साफ न करने से दाँतों में काई उत्त्पन हो जाती है । ये काई एक पायरिया जैसी बीमारी का रूप ले लेते है । इस पायरिया जैसी को बीमारी को रोकने के लिए या इस बीमारी को ठीक करने के लिए हम इसका इलाज घर में ही कर सकते है |
पायरिया की बीमारी का उपचार :-
1. पायरिया को ठीक करने के लिए टमाटर और गाजर का रस निकालकर पीने से दाँतों की बीमारी ठीक हो जाती है । तथा सरसों की २ या ४ बून्द लेकर इसमें बारीक़ नमक एक चुटकी डालकर इसका मंजन करने से दाँत का दर्द ठीक हो जाता है ।
2. दाँत के मसूड़े में से खून निकलने पर इसको रोकने के लिए थोड़ी सी फिटकरी भूनकर इसको बारीक़ पीस कर इसमें हल्दी मिलाकर इसका चूर्ण तैयार कर ले । इस चूर्ण को रोजाना मंजन के रूप में करने से मसूड़े का खून आना बंद हो जायेगा| और दाँत भी साफ हो जायेंगे ।
3. दाँतों को अधिक साफ करने के लिए तेजपात का चूर्ण तैयार करके इस चूर्ण को सप्ताह में एक या दो बार करने से दाँत बिल्कुल दूध के भाती सफेद या चमकते हुए दिखाई देंगे |
4. पायरिया को दूर करने के लिए तुलसी का उपयोग बहुत ही उपयोगी होती है । तुलसी के पत्तों को धुप में सुखाकर बारीक़ पीसकर इसका चूर्ण तैयार कर ले । इस चूर्ण में समान मात्रा में सरसों का तेल डालकर लेप की तरह तैयार कर ले । इस लेप को अपने हाथों की ऊँगली या ब्रश पर लगाकर करने से पायरिया की शिकायत ख़त्म हो जाती है । तथा मुँह से बदबू भी दूर हो जाती है | जब मनुष्य के दाँत हिलने लगे तो मनुष्य को अपने दाँत निकलवाने नही चाहिए । इसका उपचार आम के पत्तों से किया जा सकता है । ऐसे मनुष्य को आम के पत्तों को रोजाना चबाकर कुछ समय बाद थूक देना चाहिए । ऐसा करने से कुछ दिन बाद मनुष्य के दाँत हिलना बंद हो जाएंगे |
5. दाँत में खोड होने पर दाँतों में दर्द होने लगता है । इन दाँत के खोड में दर्द को रोकने के लिए लोंग के तेल में थोड़ी सी रुई को गिला करके अपने दाँत के खोड़ में लगाये । इस तेल उपयोग डॉक्टर भी करते है । इस तेल का उपयोग करने से दाँत का कीड़ा मर जाता है| और उस जगह पर दाँतों में चाँदी भर दी जाती है । जिससे ये खोड़ बंद हो जाता है ।
6. दाँतों में दर्द होने पर जल्दी आराम पाने के लिए दाल और चीनी का तेल निकालकर लगाने से दाँतों जल्दी आराम मिलता है । या फिर अमृत धारा में रुई को गिला करके दर्द वाले स्थान पर लगाने से काफी आराम मिलता है |
7. दन्त पीड़ा को ख़त्म करने के लिए नौसादर का चूर्ण बना ले । इस तैयार चूर्ण को दर्द वाले स्थान पर मसलने से दन्त पीड़ा ख़त्म हो जाती है ।  www.allayurvedic.org
8. पायरिया जैसी बीमारी को ठीक करने के लिए सुबह उठकर अपने दाँतों को साफ करने के बाद काले तिल को खाए । खाने के कुछ समय बाद पानी पिए । यह क्रिया रात्रि को सोने से पहले भी किया जा सकता है । रोजाना करने से पायरिया की बीमारी दूर हो जाएगी । और दन्त पीड़ा भी ठीक हो जायेगा ।
उपर बताये गए सभी प्रयोग दाँतों के लिए बहुत ही उपयोगी है । इन सभी विधियों में से एक का भी उपयोग करने से दाँतों की सभी बीमारी ठीक हो जाएगी |
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch