Categories

सर्वश्रेष्ठ चिकित्सकों द्वारा तैयार डाईटचार्ट, इसको अपनाइये और सिर्फ 5 दिन में ही वजन में फर्क देखिये


  • आज हम मोटापे के लिए आजमाया और प्रयोग किया गया नुस्खा आपके लिए लाये है ये आपके overweight (अधिक वजन) को तेजी से घटाता है child obesity (बच्चों के मोटापे) के लिए भी ये कामयाब नुस्खा है आज कल obesity statistics (मोटापे के आँकड़े) देखने पर पता चलता है कि एक तिहाई से जादा लोग इसका शिकार हैं obesity treatment (मोटापे का इलाज) क्या है इस पोस्ट में आपको स्पष्ट रूप से बताने का प्रयास करेगे-
  • आज कल childhood obesity (बचपन का मोटापा) भी एक मुसीबत बनता जा रहा है लोग तरह-तरह के प्रयास कर रहे है। टी.वी, न्यूज-पेपर, विज्ञापन के प्रचार की तरफ लोग उत्साहित होकर मोटापे की दवा लेकर बाद में खुद को ठगे से महसूस करते है। आपको थोड़ी सी खुद बनाने की मेहनत ही करनी है आखिर ये शरीर आपका है और इसे आपको ही संतुलित रखना है। www.allayurvedic.org
  • नुस्खे को घर पर ही बनाए सारी सामग्री आपको आयुर्वेदिक दवा बेचने वाले पंसारी (दुकानदार) से आसानी से मिल जायेगी।

★ आवश्यक सामग्री :

  1. गुग्गुल(Guggul)- 140 ग्राम (Commiphora wightii)
  2. विलायिती इमली (Camachile)-105 ग्राम (इसे जंगल जलेबी, अग्रेजी इमली, गंगा इमली भी कहते है।)
  3. त्रिफला (Triphala)- 105 ग्राम
  4. यष्टिमधु (Liquorice)-70 ग्राम (इसे मुलेठी भी कहते है।)
  5. गिलोय (Tinospora)- 70 ग्राम
  6. नागरमोथा (Nut grass)- 70 ग्राम (Cyperus Scariosus)
  7. जीरा (cumin)- 70 ग्राम
  8. शुंठी(Shunti)- 70 ग्राम (सोंठ)
★ बनाने की विधि :
  • उपरोक्त सभी औषिधियों को बारीक-बारीक कूट-पीस ले और महीन छन्नी से छान कर किसी डिब्बे में बंद कर के रख ले-आपकी ये सामग्री कूट-पिस लगभग 700 ग्राम तैयार हो जायेगी।
★ सेवन करने का तरीका :
  • प्रतिदिन आपको इसमें से दस ग्राम सुबह खाने से पहले गुनगुने पानी से और शाम को खाने के बाद गुनगुने पानी से लेना है बीस ग्राम के हिसाब से एक माह में 600 ग्राम दवा होगी तथा ये एक माह से उपर के लिए हो जायेगी। तब तक आपका वजन लगभग आठ से दस किलो से जादा कम हो जाएगा। 
  • पहले माह तेजी से घटता है लगभग छ: से सात किलो फिर थोडा कम घटेगा। आप इसे आगे भी जारी रख सकते है जब आपको लगे कि आपका वजन और चर्बी अब आपके लिए पर्याप्त है दवा को बंद कर सकते है। www.allayurvedic.org
★ आवश्यक परहेज :
  • तली भुनी चीजे, फास्ट-फ़ूड तथा रिफाइंड आयल का प्रयोग न करे। वनस्पति-घी की जगह गाय का घी प्रयोग करे क्योंकि गाय का घी चर्बी नहीं बढाता है।
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch