Categories

अजमोद (Parsley) ब्रैस्ट कैंसर से लेकर किडनी तक इन 8 रोगों में फायदेमंद है.!!!



  • अजमोद के गुण प्राय अजवाइन की तरह होते हैं। परन्तु अजमोद का दाना अजवाइन से बड़ा होता है। अजमोद विटामिन ए, बी और सी, पोटैशियम, मैंगनीज, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम, आयरन, सोडियम और फाइबर से भरपूर होता है। इसमें एपिजेनिन और लूटेओलिन जैसे तत्व भी पाये जाते हैं। गर्म तासीर का अजमोद श्वास, सूखी खांसी और आंतरिक शीत के लिए लाभकारी होता है।

➡ अजमोद के स्वास्थवर्धक फायदे :
  1. एंटीऑक्सीडेंट : अजमोद में लूटेओलिन एंटीऑक्सीडेंट होता है। जो फ्री-रेडिकल्स को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है। अजमोद में विटामिन ए और सी होता है, जो आपकी आंखों और त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है। आप इसे खाने में स्वाद बढ़ाने के मसाले के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं। सलाद पर डाल सकते हैं या फिर जूस में मिलाकर भी पी सकते हैं।
  2. ब्रेस्ट कैंसर में उपयोगी : अजमोद में एपिजेनिन नामक तत्व पाया जाता है। यह तत्व ब्रेस्ट कैंसर के खतरे का कम करता है। अजमोद के सेवन से ब्रेस्ट कैंसर के ट्यूमर की संख्या को कम करने और उनके विकास को धीमा करने में मदद मिलती है।
  3. किडनी रोग में लाभकारी : अजमोद किडनी की सफाई के लिए जाना जाता है। किडनी में मौजूद व्यर्थ पदार्थों को बाहर निकाल कर यह आपको स्वस्थ रखता है। अजमोद पेट की समस्याओं को दूर रखने में मदद करता है। यह देर तक भूख का एहसास नहीं होने देता है जिससे यह वजन को काबू में रखने में मदद करता है।
  4. दर्द और सूजन दूर करने का उपाय : दर्द या सुजन होने पर 2 चम्मच अजमोद को 6 से 7 चमच सरसों के तेल में उबाल ले फिर हलके हाथो से दर्द प्रभावित जगह पर मालिश करें इस से आपका दर्द जल्दी ख़तम हो जायेगा| www.allayurvedic.org
  5. पथरी से आराम देता है अजमोद : 3 ग्राम अजमोद के बीज का चूर्ण, 12 ग्राम मुली के पतों का रस मिलाकर पीये और 10 दिनों में पथरी गल जाती है दर्द से आराम मिलता है|
  6. कमजोरी दूर करने में मददगार है अजमोद : काफ़ी लोगों को किसी कारण कमजोरी हो जाती है इसे दूर करने के लिए अजमोद का सेवन करे इस से आपको काफ़ी फ़ायदा होगा |काफ़ी (Coffee) मै अजमोद का बारीक़ चूर्ण को मिलाकर सेवन करने से कमजोरी दूर हो जाती है
  7. हिचकी और उल्टी से आराम : खाना खाने के समय अगर आपको हिच्की लग जाती है तो अजमोद के वीज पान के पतों मै रख कर रस चूसने से तुरन्त फायदा होता है | अजमोद के चूर्ण का सेवन करने से उल्टी रुक जाती है या अजमोद मै लौंग और शहद मिलाकर खाने से उलटी रुक जाती है |
  8. अजमोद की जड़ का चूर्ण सब किस्मो की कफ़ की बीमारियों मै लाभकारी और पाचक होता है


  • सावधानी इस की बर्तों की गर्भवती औरतो और मिर्गी से पीड़ित लोगो को नहीं करनी चाहिये, ये उनके के लिए हानिकारक हो सकता है |
loading...
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch