Categories

लेमन ग्रास की सिर्फ 2 बूंद कम कर देगी कोलेस्ट्राल, कैंसर और अन्य बिमारियों में भी रामबाण.!!!



  • लेमन ग्रास (lemon grass)की दो बूंद कम कर देगी कोलेस्ट्राल :  आजकल के दौर में अधिकतर लोग बढ़ते कोलेस्ट्रॉल और इससे जुड़ी बीमारियां जैसे कि हाइपरटेंशन, सीने में दर्द, हार्ट अटैक इत्यादि से पीड़ित हैं। इसलिए आपको अपने कोलेस्ट्रॉल लेवल को हमेशा नियंत्रित रखना चाहिये। रोजाना किये जाने वाले व्यायाम और संतुलित आहार से काफी हद तक कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित किया जा सकता है। इसके अलावा आप लेमनग्रास ऑयल के सेवन से भी अपने बढ़ते कोलेस्ट्रॉल लेवल को कंट्रोल में रख सकते हैं।
  • लेमन ग्रास मुख्य तौर पर साउथ-ईस्ट एशिया जैसे देशों और गर्म जगहों पर पायी जाती है। कुछ शोधों में यह पता चला कि लेमनग्रास ऑयल्स में एंटी-इंफ्लेमेटरी क्षमताओं के कारण यह आपके कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद करती है, इसके अलावा भी इसमें कई और औषधीय गुण होते हैं। ब्राजीलियन रिसर्चर द्वारा साल 2011 में फ़ूड एंड केमिकल टॉक्सिकोलॉजी जर्नल में प्रकाशित एक शोध में भी यह बात सामने आयी है कि, लेमनग्रास ऑयल का नियमित सेवन शरीर में ब्लड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को कम करता है। इस शोध में एक चूहे को 21 दिनों तक 100 मिलीग्राम प्रति किलो वजन के हिसाब से लेमनग्रास ऑयल दिया गया और उसका निरीक्षण किया गया, बाद में जांच में उस चूहे के ब्लड कोलेस्ट्रॉल में काफी कमी पायी गयी और किसी तरह का कोई साइड इफ़ेक्ट भी नहीं पाया गया।
➡ इसका कैसे इस्तेमाल करें : 
  • लेमन ग्रास एसेंशियल ऑयल की सिर्फ 2 बूंदें ही इससे मिलने वाले फायदों के लिये पर्याप्त हैं। एक गिलास गर्म पानी में 2 बूँद लेमनग्रासऑयल डालकर इसे सुबह नाश्ते के साथ लें। आप इसे अपनी मसाला चाय के साथ भी ले सकते हैं।
  • एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेंटरी, एंटी-सेप्टिक और विटामिन सी जैसे औषधीय गुणों से भरपूर लेमनग्रास कई रोगों से लड़ने की क्षमता होती है। यह शरीर से विषाक्त पदार्थो को नष्ट करता है और शरीर को स्वच्छ करने में मदद करता है। आइए लेमन ग्रास के अन्य स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानते हैं।
➡ अन्य फायदे : 
  • कैंसर का रामबाण इलाज : नींबू घास में कैंसर सहित कई बीमारियों से छुटकारा दिलाने वाले गुण होते है। इसमें अद्भुत एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते है। जिसके कारण मानव शरीर में कई गंभीर रोगों के लिए जिम्मेदार अणुओं के स्वरूप में परिवर्तन लाकर उन्हें न सिर्फ स्थिर किया जाता है बल्कि कुछ मामलों में यह रोगाणुओं को अपने में समाहित भी कर लेती है।
  • पेट संबंधी बीमारियों का करें इलाज : लेमनग्रास में एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के कारण इसमें बुखार, पेट संबंधी बीमारियों और अर्थराइटिस समेत विभिन्न बीमारियों के अणुओं के घातक स्वरूप को परिवर्तित करने और निष्क्रिय करने की क्षमता विद्यमान होती है। यह फ्री रेडिकल को अपने में समाहित कर स्थिर कर देता है। अपच, कब्ज, दस्त, पेट की सूजन, पेट फूलना, पेट में ऐंठन, उल्टी और ऐंठन इस प्रकार की तरह पाचन संबंधी समस्याओं में सुधार के लिए सहायता करते है। www.allayurvedic.org
  • बच्चों की एडीएचडी समस्या में भी है फायदेमंद : 1998 में हुए एक अध्ययन के अनुसार, एडीएचडी से पीडि़त बच्चों को नींद आसानी से नहीं आती। ऐसे बच्चों के लिए लेमन ग्रास से बनी हर्बल टी काफी फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद पुदीना, कैमोमाइल या लेमन ग्रास और अन्य ऐसी ही जड़ी-बूटियां अति सक्रिय मांसपेशियों को शांत करने में मदद करती हैं।
  • एंटी इंफ्लेमेंटरी और एंटी-सेप्टिक गुणों से भरपूर : एंटी इंफ्लेमेंटरी और एंटी सेप्टिक गुणों के कारण, लेमनग्रास अर्थराइटिस, गाउट और मूथ पथ की सूजन के इलाज के लिए एक मूल्यवान सहायता के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इसलिए अगर आप इन समस्याएं से परेशान हो तो नियमित रूप से लेमनग्रास के जूस या इससे बनी हर्बल चाय का सेवन करें।
  • विषैले तत्वों को दूर करें : लेमनग्रास में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट, एंटीसेप्टिक और मूत्रवर्धक गुणों के कारण यह शरीर के विषैले तत्वों को दूर करने वाला एक महत्वपूर्ण घटक है। यह लीवर, किडनी, ब्लैडर और अग्न्याशय को साफ करने और रक्त परिसंचरण को बढ़ाने में मदद करता है। और मूत्रवर्धक प्रभाव के कारण यह विषाक्त पदार्थों को बाहर ले जाने में मदद करता है।
Thank you for visit our website

टिप्पणि Facebook

टिप्पण Google+

टिप्पणियाँ DISQUS

MOBILE TEST by GOOGLE launch VALIDATE AMP launch